सांकेतिक तस्वीर

चमोली जिले में दशोली ब्लॉक के 14 गांवों को यातायात से जोड़ने वाले 23 किमी चमोली-लस्यारी-भतंग्याला सड़क की स्थिति दयनीय बनी हुई है। 23 किमी में से करीब 15 किमी सड़क जानलेवा बनी हुई है।

नव्वा गांव के समीप मोटर पुल दो सालों से निर्माणाधीन होने से वाहन गदेरे से होकर गुजर रहे हैं। क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने सड़क की स्थिति सुधारने के लिए कई बार संबंधित अधिकारियों से गुहार लगाई, लेकिन स्थिति जस की तस है।

इस सड़क का पहले सात किमी हिस्सा लोनिवि के अधीन है। शेष 16 किमी सड़क संरक्षण का जिम्मा पीएमजीएसवाई के पास है। सड़क से फर्स्वाण फाट क्षेत्र के रांगतोली, हरमनी, लस्यारी, लासी, मजोठी, नव्वा, सेम-डुंगरा, मैड़-ठेली, नेथोली, सरतोली और भतंग्याला गांवों के ग्रामीण आवाजाही करते हैं।

रांगतोली गांव से भतंग्याला तक सड़क पर तीखे मोड़ होने से छोटे वाहनों की आवाजाही भी मुश्किल से हो पा रही है। जिला पंचायत सदस्य ऊषा रावत और मैड़-ठेली के प्रधान सुरेंद्र रावत का कहना है कि पीएमजीएसवाई के अधिकारी सड़क सुधार की ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

बीडीसी बैठक में अधिकारियों की ओर से शीघ्र सड़क का काम पूरा करने का आश्वासन के बाद भी स्थिति जस की तस बनी है। इधर, पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता आरपी सिंह का कहना है कि मोटर मार्ग पर दो पुल बनने हैं। पहले पुल का निर्माण शुरू कर दिया गया है। पुलों का निर्माण पूरा होने के बाद वाहनों की आवाजाही सुचारू करवा ली जाएगी।