उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून सहित पूरे राज्य का मौसम शुक्रवार सुबह कुछ बदला सा नजर आया। देहरादून में गुरुवार की देर रात झमाझम बारिश के साथ शुक्रवार की सुबह बादल छाए रहे। इसके साथ ही उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी होने की खबर है।

पहाड़ों की रानी मसूरी में पल-पल मौसम का मिजाज बदल रहा है। शहर में बारिश के बाद जमकर ओलावृष्टि हुई, कुछ देर के लिए शहर ओलों से सफेद हो गया। बारिश और ओलों से शहर मे कड़ाके की ठंड हो गई है। तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है।

बारिश के कारण शहर में कई जगह जलभराव भी हुआ है। मसूरी शहर में पिछले पांच दिनों से लोगों को सूर्य नारायण के दर्शन नहीं हुए हैं। शहर में लोगों को बादल और कोहरे के बाद बारिश और ओलावृष्टि का सामना करना पड़ा, जिससे स्थानीय लोगों के साथ ही शहर में आए पर्यटकों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

शहर में आए पर्यटक वापस जाने लगे हैं, जिससे पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। शहर में बारिश और ओलावृष्टि के बाद कड़ाके की ठंड बढ़ गई है। ठंड से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं।

उधर राज्य के अन्य इलाकों में शुक्रवार को तड़के बारिश हुई। मौसम में अचानक हुए इस बदलाव से तापमान में गिरावट दर्ज की गई। लोगों को अलाव का सहारा लेना पड़ा।

गुरुवार रात हुई तेज बारिश के बाद शुक्रवार की सुबह भी देहरादून पर बादल महरबान रहे। सुबह से आसमान में छाए बादलों से इतना अंधेरा हो गया जैसे की रात हो। कुछ देर तेज हवाएं भी चलीं, जिसके बाद बारिश शुरू हो गई।

snowfall1

उधर, मौसम विभाग ने आशंका जताई थी कि देहरादून सहित पूरे राज्य में शुक्रवार को बारिश के साथ ही ऊंचाई वाली जगहों पर भारी बर्फबारी हो सकती है। मौसम विभाग ने गुरुवार की शाम से आगामी 36 घंटे तक बर्फबारी की चेतावनी जारी की है।

अस्थायी राजधानी सहित पूरे राज्य में गुरुवार को बादल छाए रहे। राजधानी में भी बादलों की वजह से ठंड का मौसम रहा। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि राज्य में कई जगहों पर शुक्रवार को हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

उन्होंने बताया कि गुरुवार शाम से आगामी 36 घंटे तक उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई पर भारी बर्फबारी हो सकती है। राजधानी में बादल छाए रहेंगे। कुछ जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश के बीच पारे में सात से नौ डिग्री तक की गिरावट आ सकती है।

उधर, पिथौरागढ़ जिले में मुनस्यारी के आसपास की पहाड़ियों पर बुधवार रात मौसम का पहला हिमपात हुआ। कालामुनि, बेटुलीधार, खलियाटाप, मिलम में खूब हिमपात हुआ है। मुनस्यारी में गुरुवार को भी बादल छाए रहे।

कड़ाके की ठंड से यहां जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। उधर, जिला मुख्यालय सहित अन्य इलाकों में गुरुवार को मौसम सामान्य बना रहा। मौसम विभाग के अनुसार अभी कुछ दिनों तक बादलों की आवाजाही बनी रहेगी।

अभी मौसम में कोई बड़ा बदलाव आने वाला नहीं है। इस बीच जिले के सभी इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ने लगी है। घाटी वाले इलाकों में सुबह के समय छाने वाले घने कोहरे से तापमान में गिरावट आ रही है और लोगों को आवागमन में कठिनाई हो रही है।

मुनस्यारी में तहसील क्षेत्र के सरमोली गांव में बुधवार की शाम बिजली कड़कने के दौरान लोगों के कई उपकरण फुंक गए। लोगों के टीवी, फ्रिज, बल्ब, चार्जर फुंकने से नुकसान हुआ है।