देहरादून जिले में विकासनगर के जीआईसी तिमली में चारदीवारी न होने के कारण छात्रों के साथ ही शिक्षकों को भी खतरा बना हुआ है। स्कूल से लगता हुआ तिमली रेंज का घना जंगल है, जिसमें गुलदार, जंगली सुअर, हाथी जैसे खतरनाक जानवर रहते हैं।

पिछले सोमवार को स्कूल की प्रार्थना से पहले जंगली सूअर ने नूरजहां पत्नी नसीम पर हमला कर दिया था। महिला को गंभीर हालत में लेहमन अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। अभिभावक शिक्षक संघ के अध्यक्ष इमरान व प्रधानाचार्य कुंवर सिंह शर्मा ने कहा कि अगर सुअर का हमला प्रार्थना के दौरान होता तो कई छात्रों की जान पर बन आती।

चारदीवारी न होने के कारण आए दिन पालतू जानवर और आवारा पशु भी स्कूल परिसर में घुस आते हैं। गंदगी फैलाने के साथ ही शिक्षण कार्य प्रभावित करते हैं। आए दिन यह जानवर आबादी क्षेत्र के आसपास देखे जाते हैं।

पहले भी छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए विभाग और शासन, प्रशासन से चारदीवारी की मांग की जा चुकी है। लेकिन अभी तक इसका निर्माण नहीं हुआ है। खंड शिक्षा अधिकारी उमा पंवार ने बताया कि प्रधानाचार्य को फिलहाल पीटीए कोष से तारबाड़ कराने के निर्देश दिए हैं। जल्द ही रमसा के तहत चारदीवारी का निर्माण कराया जाएगा।