कालागढ़।… उत्तराखंड में पौड़ी जिले के अंतर्गत कालागढ़ वन क्षेत्र में खुले पानी के टैंक से वनकर्मियों ने मंगलवार को एक बाघ का शव बरामद किया है। कालागढ़ वन रेंज के अधिकारी देवेन्द्र सिंह रजवार ने बताया, ‘बाघ का शव लगभग 7 दिन पुराना होने के कारण शव सड़ी गली अवस्था में है’

रजवार ने बताया कि सिंचाई विभाग के इस टैंक को ब्रिटिश सरकार द्वारा कालागढ़ डेम बनाते समय पानी का स्टोरेज करने के लिए निर्मित किया गया था।

सिंचाई विभाग द्वारा संचालित कालागढ़ डैम क्षेत्र वाले वन क्षेत्र में सिंचाई विभाग द्वारा लगभग 10 फीट इस गहरे टैंक को न तो बंद ही करवाया गया और न ही उस पर ढक्कन ही लगाया गया, जिस कारण 10 वर्षीय बाघ की उसमें गिरने के कारण मौत हो गई।

उन्होंने बताया कि बाघ की खाल सहित अन्य सभी कीमती अंग सुरक्षित होने के कारण यह आशंका जताई जा रही है कि बाघ धोखे से पानी के टैंक में गिर गया और उम्र अधिक होने के कारण वह बाहर छलांग नहीं लगा पाया। मंगलवार दोपहर गश्त के दौरान बाघ के शव से आ रही दुर्गंध के कारण वनकर्मियों ने इसे देखा। बाघ के शव के पोस्टमार्टम की कार्यवाही की जा रही है।