बाबा रामदेव -फाइल फोटो

योगगुरु बाबा रामदेव का बीजेपी प्रेम किसी से छिपा नहीं है और यही बात हमेशा से कांग्रेस की आंखों में खटकती रही है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पहले ही बाबा के आटा नूडल्स और दवाओं पर सवाल उठाए तो अब राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने भी साफ कह दिया की रामदेव के नूडल्स की जांच कराई जाएगी और जल्द ही उसके सेम्पल लिए जाएंगे।

नेगी ने अर्द्धकुम्भ के दौरान तमाम स्वास्थ्य व्यवस्थाएं मुहैया कराने का भी आश्वासन दिया। योग गुरु बाबा रामदेव अभी पूर्व में हुई अपने उत्पादों की सैम्पलिंग से बरी भी नहीं हुए थे कि अब उनके द्वारा देश भर में लांच किए गए आटा नूडल्स सवालों के घेरे में आ गए हैं। बता दें कि हाल ही में हरियाणा में नूडल्स में मिले कीड़े के बाद उत्तराखंड सरकार का स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है।

हरिद्वार पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने साफ शब्दों में कह दिया है कि यह मामला लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है तो इसमें कोई लापरवाही नहीं बरती जाएगी। हरिद्वार में आटा नूडल्स के सेम्पल लिए जाएंगे और जांच करायी जाएगी और इस काम को शीघ्र कराया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री मानते हैं कि सैम्पलिंग के बाद कई बार सजा देने में देरी होती है। स्वास्थ्य विभाग सेम्पल भरने का काम करता है, लेकिन, निर्णय कोर्ट को सुनाना होता है। विभाग की जिम्मेदारी केस की पैरवी करने और उसके परिणाम जल्द से जल्द लाने की होती है। उन्होंने पूर्व में रामदेव के उत्पादों के सेम्पल फेल होने और पुनः बाज़ार में बिकने के प्रश्न पर कहा कि फेल हुए सेम्पल पूरी तरह से बैन होते हैं उन्हें नहीं बेचा जा सकता।

अर्द्धकुम्भ में स्वास्थ्य व्यवस्थोओं पर बोलते हुए नेगी ने कहा की ड्यूटी के लिए डॉक्टर्स का एक रोस्टर तैयार कर लिया गया है। सबकी ड्यूटी पहले से फिक्स होगी और अर्द्धकुम्भ में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आएगी।