विजय बहुगुणा और हरीश रावत की फाइल फोटो

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए भले ही अभी एक साल से ज्यादा का वक्त बचा हो, लेकिन यहां राजनीति जोरों पर है। विपक्षी तो मुख्यमंत्री हरीश रावत और सरकार को घेर ही रहे हैं, अब उनके अपने भी सलाह देने के अंदाज में उनकी कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं। मुख्यमंत्री भी किसी को जवाब देने से चूक नहीं रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने मुख्यमंत्री हरीश रावत को सलाह देते हुए कहा कि सरकार इलेक्शन मोड में जाने की बजाए पहले जनता से किए वादों को पूरा करे। साथ ही कहा कि राज्य के जो हालात हैं, मैं उससे चिंतित हूं। इस पर हरीश रावत का कहना है कि वे काम करने में विश्वास रखते हैं। सवाल उठाने वालों को बंद कमरे में नहीं बल्कि जनता में जाकर हमारे काम देखने चाहिए।

सोमवार देर रात तक मुख्यमंत्री हरीश रावत से कई मुद्दों पर बात करने वाले विजय बहुगुणा राज्य को लेकर चिंतित हैं। एक निजी न्यूज चैनल से बात करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा इस समय सरकार को सारा ध्यान इस बात पर रखना चाहिए कि कैसे वो जनता के लिए की गई पूर्व घोषणाओं को पूरा करती है।

उन्होंने कहा कि इलेक्शन के लिए तो अभी काफी समय बचा है। राज्य की आर्थिक स्थिति को काफी चिंताजनक बताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में कई तरह की समस्याएं हैं, जिनके लिए गंभीरता से कोशिशें करने की दरकार है। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार कई मद में बजट को खर्च नहीं कर पा रही है।

इसके साथ ही विजय बहुगुणा बोले, राज्य में कई मंत्रियों के पद लंबे समय से खाली पड़े हैं, जिन्हें जल्द से जल्द भरने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस समय राज्य में कई तजुर्बेकार विधायक हैं, जिनके अनुभव का लाभ उठाया जा सकता है।