‘फील्ड मार्शल’ दिवाकर भट्ट ने UKD से तोड़ा नाता, बीजेपी में शामिल होंगे!

उत्तराखंड आंदोलन के फील्ड मार्शल कहे जाने वाले पूर्व कैबिनेट मंत्री दिवाकर भट्ट ने उत्तराखंड क्रांति दल (यूकेडी) से अलग होने की घोषणा कर दी है। उन्होंने बीजेपी की नीतियों को उत्तराखंड के लिए सबसे बेहतर बताया।

गुरुवार को गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) में पत्रकारों से बात करते हुए पूर्व कैबिनेट मंत्री व यूकेडी के फील्ड मार्शल दिवाकर भट्ट ने कहा कि वह उत्तराखंड क्रांति दल से पूरी तरह नाता तोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की हठधर्मिता से यूकेडी की यह हालत हुई है। उन्होंने कहा कि फिर से एक होने के लिए कोई भी तैयार नहीं है।

भट्ट ने कहा कि राज्य का निर्माण जिस मकसद से किया गया था वह सपना बनकर रह गया है। राज्य के आंदोलनकारियों की कुर्बानी व्यर्थ जा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य बचाने वाली ताकतों को वह साथ देते रहेंगे।

इस दौरान उन्होंने बीजेपी की नीतियों को उत्तराखंड के लिए बेहतर बताया। पत्रकार वार्ता के दौरान उन्होंने देवप्रयाग विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों के ठप होने की भी बात कही। उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र में पेयजल योजनाओं के नाम पर लोगों को गुमराह किया जा रहा है। पत्रकार वार्ता के दौरान भट्ट के साथ बड़ी संख्या में उनके समर्थक भी मौजूद थे।

ukdदिवाकर भट्ट ने हालांकि किसी भी दल से जुड़ने की बात फिलहाल नहीं कही, लेकिन पत्रकार वार्ता के दौरान बीजेपी केंद्र सरकार व पूर्व में राज्य की बीजेपी सरकार के कार्यों की सराहना जरूर की। साथ उन्होंने बीजेपी की नीतियों को उत्तराखंड के लिए बेहतर बताया। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि वे देर-सबेर बीजेपी का दामन थाम सकते हैं।