बेटी से दिलाया गर्व : ऑस्ट्रेलिया की करेंसी संभाल रही है अल्मोड़ा की बेटी

ऑस्ट्रेलिया पूरी करेंसी एक भारतीय महिला के हाथ है। आपको यह जानकर और भी खुशी होगी की ये महिला उत्तराखंड की बेटी है। अल्मोड़ा जिले के त्यूनरा निवासी कविता जोशी उनका नाम है। कविता का चयन रिजर्व बैंक ऑफ ऑस्ट्रेलिया में टेक्निकल टीम लीडर के पद पर हुआ है।

पिछले दिनों उन्होंने कार्यभार संभाल लिया है। इससे पहले उन्होंने टीसीएस, एचसीएल और आईबीएम कंपनियों में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर काम किया है। रिजर्व बैंक ऑफ ऑस्ट्रेलिया में काम करने वाली वह पहली भारतीय महिला हैं।

त्यूनरा निवासी सतीश चंद्र जोशी और पुष्पा जोशी की बेटी कविता जोशी बचपन से ही मेधावी छात्रा रही हैं। कविता ने एडम्स गर्ल्स इंटर कॉलेज अल्मोड़ा से हाईस्कूल, जीजीआईसी से इंटर और एसएसजे परिसर से बीएससी फर्स्ट क्लास में पास की।

इसके बाद कविता ने वनस्थली विद्यापीठ से एमसीए प्रथम श्रेणी में पास किया। कैंपस प्लेसमेंट में उनका चयन टीसीएस में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर हुआ। दो साल टीसीएस में काम करने के बाद उन्होंने आईबीएम ज्वॉइन किया।

आईबीएम ने दो साल के लिए कविता को ऑस्ट्रेलिया भेजा। दो साल काम करने के बाद उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में ही एचसीएल ज्वॉइन कर ली। गत दिनों उनका चयन रिजर्व बैंक ऑफ ऑस्ट्रेलिया में टेक्निकल टीम लीडर के पद पर हुआ है।

कविता ने पहली ही कोशिश में यह सफलता हासिल की है। उच्च शिक्षा के लिए साल 2004 में उन्हें स्कॉलरशिप भी मिली थी। कविता के पिता सतीश चंद्र जोशी यहां फोटो स्टूडियो चलाते हैं जबकि माता पुष्पा जोशी गृहिणी हैं। छोटा भाई हर्षित गुड़गांव में कॉल सेंटर चलाता है।