जंगल में मिली पांच दिन से लापता देहरादून के परिवार के एक बच्चे की लाश

अस्थायी राजधानी देहरादून में लापता परिवार के चार सदस्यों में से एक आठ साल के बच्चे का शव बरामद हो गया है। प्रेमनगर से लापता परिवार के बच्चे की लाश बुधवार को ऊधमसिंह नगर के सितारगंज इलाके के जंगल से बरामद हुई। बच्चे की हत्या गोली मारकर की गई है।

बच्चे का शव मिलने के बाद लापता परिवार के अन्य सदस्यों के सुरक्षित होने को लेकर चिंता बढ़ गई है। परिवार 27 नवंबर को बहू देखने के लिए रुद्रपुर जाते समय लापता हो गया था। जब कार यूपी के बिलासपुर इलाके में लावारिस हालत में बरामद हुई तभी से अनहोनी की आशंका जताई जा रही थी।

प्रेमनगर के श्यामपुर निवासी राजेंद्र जोशी उर्फ राजू (30) अपनी मां कमला (52) और बेटे भास्कर (8) के साथ अपने लिए लड़की देखने 27 नवंबर को कार से रुद्रपुर गए थे। उनके साथ चौथा शख्स कार ड्राइवर था। राजू का पहली पत्नी से तलाक हो चुका था। उससे एक बेटा भास्कर था, जो राजू के साथ ही रहता था। 28 नवंबर को उनकी कार यूपी केरामपुर जिले के विलासपुर इलाके में लावारिस हाल में मिली थी।

मंगलवार को प्रेमनगर पुलिस ने जीरो अपराध संख्या में परिवार के अपहरण का मुकदमा दर्ज कर विवेचना रामपुर जिले के विलासपुर थाने को भेज दी थी। इसके बाद बुधवार को राजेंद्र के भाई ने एसएसपी सदानंद दाते से मिलकर हत्या की आशंका जताई थी।

इसी बीच लापता राजेंद्र के बेटे भास्कर का शव ऊधमसिंह नगर के सितारगंज इलाके में मिलने से पुलिस में अफरातफरी मच गई। बालक को मारकर फेंका गया था। ऐसे में राजेंद्र, उसकी मां और कार चालक के जीवित मिलने की उम्मीद भी अब कम हो गई है। लिहाजा ऊधमसिंह नगर पुलिस ने इलाके में अपनी सक्रियता बढ़ा दी है।

एसएसपी सदानंद दाते ने बताया कि बालक की लाश मिलने के बाद मामला गंभीर हो गया है। यूपी के रामपुर और ऊधमसिंह नगर पुलिस से तालमेल बनाकर हत्या के कारणों को तलाशा जा रहा है।