देहरादून नारी निकेतन मामला : राज्यपाल से मिले बीजेपी नेता, CBI जांच की मांग

मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी ने मंगलवार को उत्तराखंड के राज्यपाल डॉ. कृष्णकांत पाल से मुलाकात कर नारी निकेतन में मूक-बधिर संवासिनी के साथ हुए बलात्कार और गर्भपात मामले की न्यायिक या सीबीआई जांच कराने का अनुरोध करते हुए संबंधित विभागीय मंत्री की बर्खास्तगी की मांग की।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और विधायक विजया बडथ्वाल के नेतृत्व में राजभवन पहुंचे पार्टी प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को पार्टी की एक समिति द्वारा इस संबंध में की गई जांच रिपोर्ट भी सौंपी।

प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को समिति के गत 25 नवंबर को नारी निकेतन के भ्रमण के दौरान संवासिनियों से मुलाकात तथा बातचीत से इकट्ठा की गई जानकारी से अवगत कराया और उनसे संपूर्ण घटना की निष्पक्ष न्यायिक जांच या सीबीआई जांच कराने का अनुरोध किया।

बीजेपी प्रतिनिधिमंडल ने मामले में लिप्त सभी दोषियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए संबंधित विभागीय मंत्री को घटना के लिए जिम्मेदार मानते हुए उनकी तत्काल बर्खास्तगी का भी अनुरोध किया।

पिछले दिनों सामने आए इस मामले की जांच के लिए राज्य सरकार ने एक विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित की है, जिसने पीड़ित के बयानों के आधार पर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

प्राथमिक जांच में अनियमितताओं के लिए दोषी पाई गई नारी निकेतन की अधीक्षक मीनाक्षी पोखरियाल और अनीता मैंदोला को भी पहले ही निलंबित किया जा चुका है।

इस बीच, एसआईटी द्वारा की जा रही जांच से जुड़े एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गत रविवार को पीड़ित संवासिनी के सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज हुए मजिस्ट्रेटी बयान के आधार पर सोमवार रात आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि आरोपियों की पहचान केयर टेकर हाशिम और होमगार्ड ललित सिंह बिष्ट के रूप में की गई है।

देहरादून की न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम के सामने सांकेतिक भाषा विशेषज्ञों की मदद से दर्ज किए गए बयानों में संवासिनी ने दोनों आरोपियों की पहचान की थी। मीडिया के जरिए नारी निकेतन के अंदर संवासनियों के कथित यौन शोषण की खबरों के सामने आने के बाद उत्तराखंड सरकार ने आरोपों की सत्यता की जांच के लिए एक विशेष जांच दल का गठन किया था।

प्राथमिक जांच में नारी निकेतन में अनियमितताएं पाए जाने के बाद नारी निकेतन की अधीक्षक मीनाक्षी पोखरियाल और प्रभारी अधीक्षक अनीता मैंदोला को पहले ही निलंबित किया जा चुका है।