केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी रविवार को उत्तराखंड में धार्मिक नगरी हरिद्वार दौरे पर पहुंचे। यहां गडकरी ने दिल्ली से हरिद्वार तक राष्ट्रीय राजमार्ग को बेहतर और आधुनिक बनाने के लिए निरीक्षण किया।

वहीं गडकरी ने उत्तराखंड में 25 हज़ार करोड़ रुपये की लागत से नई सड़कों के निर्माण कार्य का शुभारंभ 26 जनवरी तक करने की घोषणा की। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मानसरोवर के सड़क निर्माण काम के लिए विदेश से मशीनें मंगाई गई हैं।

रविवार को हरिद्वार पहुंचे केंद्रीय भूतल व परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने उत्तराखंड को 25 हजार करोड़ रुपए की सड़कों का तोहफा दिया। इसके साथ ही उन्होंने चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए भी 11 हजार करोड़ रुपये की लागत से एक हजार किलोमीटर नई सड़क बनाने की घोषणा की है। यह सड़क बद्रीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री व गंगोत्री को आपस में जोड़ेगी।

roads-in-uttarakhand

उन्होंने कहा कि 26 जनवरी 2016 से पहले इन सड़कों पर काम शुरू हो जाएगा। गडकरी ने कहा कि कैलाश-मानसरोवर की यात्रा दिसम्बर 2016 से उत्तराखंड के रास्ते से भी संभव हो जाएगी। साथ ही दिल्ली-हरिद्वार हाईवे पर रफ्तार बढ़ाने की भी कोशिश की जा रही है।

रविवार को हरिद्वार में फोरलेन निर्माण का निरीक्षण करने पहुंचे केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने डामकोठी में पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि उन्होंने मुजफ्फरनगर से हरिद्वार तक की सड़कों का निरीक्षण किया है। यह सड़कें भी जून तक पूरी हो जाएंगी और दिल्ली से हरिद्वार तक की यात्रा तीन से साढ़े तीन घंटे में पूरी की जा सकेगी।

roads-in-lansdowne

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जमीनों के अधिग्रहण आदि में देरी होने के चलते काम थोड़ा पीछे है, लेकिन इसे जून 2016 तक हर हाल में पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के चारों धामों को जोडऩे के लिए बनने वाली एक हजार किलोमीटर की सड़कों के लिए छह टेंडर निकाल दिए गए हैं।

जनवरी में प्रधानमंत्री और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री से समय लेकर इन सड़कों के निर्माण का काम शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी से यह सड़कें बननी शुरू हो जाएंगी। हरिद्वार से काशीपुर व काशीपुर से नगीना तक 1250 करोड़ रुपये की लागत से दो सौ किलोमीटर हाईवे का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए भी टेंडर 26 जनवरी से पहले जारी कर दिए जाएंगे।

road
इसके अलावा छुटमलपुर से सहारनपुर व यमुनानगर के लिए भी 1250 करोड़ रुपये की लागत से 125 किलोमीटर की सड़क बनाई जाएगी। गडकरी ने उत्तराखंड के रास्ते कैलाश-मानसरोवर की यात्रा को सुगम बनाने के लिए भी सड़कों की घोषणा की।

village_road

दिल्ली-हरिद्वार हाईवे के निरीक्षण के दौरान केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी बहादराबाद पतंजिल योगपीठ में भी थोड़ी देर के लिए रुके। यहां उन्होंने आचार्य बालकृष्ण से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान हरिद्वार से सांसद रमेश पोखरियाल निशंक, मेयर मनोज गर्ग, जिलाध्यक्ष सुरेश राठौर व अन्य लोग भी उनके साथ थे।

road-pauri

दिल्ली-हरिद्वार हाईवे निरीक्षण में काफी समय लगने के कारण गडकरी करीब चार घंटे देरी से पहुंचे। नितिन गडकरी ने विभागीय अधिकारियों के साथ होने वाली बैठक रद्द कर दी। वह थोड़ी देर के लिए रुके जरूर, लेकिन मीडिया से बात करने के बाद सीधे देहरादून जौलीग्रांट एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गए।