विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के दिवंगत नेता अशोक सिंघल की अस्थियों को रविवार को सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में वैदिक मंत्रोच्चार के बीच हरिद्वार स्थित हर की पैड़ी पर गंगा नदी में विसर्जित कर दिया गया।

अस्थि विसर्जन में शामिल हुए उत्तराखंड विधानसभा में विपक्ष के नेता अजय भट्ट ने बताया कि दिवंगत वीएचपी नेता के अस्थि कलश को पहले पूर्णागिरी आश्रम में रखा गया, जहां बड़ी संख्या में वीएचपी, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और बीजेपी नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी अस्थि विसर्जन के मौके पर मौजूद रहे।

बाद में अस्थि कलश को एक जुलूस की शक्ल में हर की पैड़ी लाया गया, जहां वैदिक मंत्रोच्चार के बीच वीएचपी के महामंत्री (संगठन) दिनेश और वीएचपी के राष्ट्रीय मंत्री राजेंद्र पंकज ने उनकी अस्थियां गंगा नदी में प्रवाहित कीं।

वीएचपी नेता अशोक सिंघल का पिछले दिनों बीमारी के चलते गुडगांव के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया था।