भारतीय-अमेरिकी अरबपति मनोज भार्गव ने एक जगह खड़ी रहने वाली साइकिल पेश की है, जिससे बिजली पैदा की जा सकती है। इससे ग्रामीण परिवार अपनी दिनभर की बिजली की जरूरतों को पूरा कर सकते हैं।

हमारे लिए खुशी की बात तो ये है कि भार्गव अपनी इस साइकिल की बिक्री सबसे पहले देवभूमि उत्तराखंड में ही करेंगे। उम्मीद कर सकते हैं कि केंद्र और राज्य सरकार से सब्सिडी भी मिलेगी।

भार्गव ने नई दिल्ली में अपने उत्पाद को पेश करते हुए कहा, ‘यह साइकिल बिजली पैदा करेगी। इसका पैडल फ्लाईव्हील बन जाएगा। यह एक जेनरेटर को घुमाएगा जो इससे जुड़ी बैटरी को चार्ज करेगा।’

electricity-generating-bicycleउन्होंने बताया कि इस साइकिल की कीमत 12,000 से 15,000 रुपये के बीच होगी। यह अगले साल मार्च से उपलब्ध होगी। कंपनी के बयान में कहा गया है कि एक घंटे तक पैडल चलाने पर एक ग्रामीण परिवार की 24 घंटे की बिजली की जरूरतों को पूरा किया जा सकता है।

इससे एलईडी जलाई जा सकेगी, एक छोटा पंखा चल सकेगा और मोबाइल फोन को चार्ज किया जा सकेगा। इसके लिए बिजली का बिल देने की भी कोई जरूरत नहीं होगी। न ही इस पर ईंधन की लागत आएगी और न प्रदूषण होगा।

भार्गव ने बताया कि उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस उत्पाद के बारे में करीब एक साल पहले बातचीत हुई थी। उन्होंने बताया कि वह सबसे पहले अपने इस उत्पाद की बिक्री उत्तराखंड में शुरू करेंगे और बाद में शेष घरेलू बाजार को लक्ष्य किया जाएगा।