उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर में अवैध कॉलोनियों के खिलाफ चलाए गए अभियान से कॉलोनाइजरों में हड़कंप मच गया। एसडीएम के नेतृत्व में गई राजस्व विभाग की टीम ने अवैध रूप से बन रही आठ कॉलोनियों को तत्काल प्रभाव से सीज कर दिया। जिन कॉलोनाइजरों व डेवलपरों की कॉलोनियां सीज की गई, उसमें नामी गिरामी लोग भी शामिल हैं।

गुरुवार को डीएम के निर्देश पर राजस्व विभाग की टीम ने अलीगंज मार्ग पर ग्राम बांसखेड़ा खुर्द में 2.86 हेक्टेयर बन रही कल्याणम कॉलोनी को सीज कर दिया। टीम ने कॉलोनी का ऑफिस सील कर जेसीबी से रास्तों में गड्ढे खोद दिए। इसके बाद टीम ने ग्राम गिरधई 4 एकड़ में बन रही कॉलोनी में लगे बिजली के पोल गिरा दिए।

ग्राम गिन्नीखेड़ा में भी दो अवैध रूप से बन रही कॉलोनियों के पोल गिरा दिए गए। इसके बाद टीम ने रामनगर रोड पर ग्राम धनौरी के निकट 4.09 हेक्टेयर में बन रही एक कॉलोनी को सीज कर दिया। इस मार्ग पर ग्राम खरमासी में जीटीएम कॉलोनी के कार्यालय को सील कर कॉलोनी को भी सीज कर दिया। इस कॉलोनी से कुछ ही मीटर दूरी पर बन रही एक और कॉलोनी की सड़कों को जेसीबी से तोड़कर एसडीएम ने कॉलोनाइजरों को किसी भी हाल में निर्माण कार्य शुरू न करने की चेतावनी दी है।

रामनगर मार्ग पर ही 3.15 हैक्टेयर में बन रही मां गिरीजा विहार कॉलोनी के रास्ते भी जेसीबी से खोद दिए गए। एसडीएम पीएस राणा ने बताया कि अधिकतर कॉलोनियां विनियमित क्षेत्र में नहीं आती हैं। कॉलोनाइजर बिना नक्शे के कॉलोनियों का निर्माण कर रहे थे।

विनियमित क्षेत्र से बाहर कॉलोनी का निर्माण करने पर टाउन प्लानर से नक्शा पास करना जरूरी है। लेकिन किसी भी कॉलोनाइजर ने ऐसा नहीं किया है। उन्होंने कहा नक्शा पास होने के बाद ही निर्माण कार्य शुरू होने दिया जाएगा।