बुधवार कार्तिक पूर्णिमा स्नान को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए जिलाधिकारी हरबंस सिंह चुघ व एसएसपी सेंथिल अबूदई कृष्णराज एस ने मंगलवार को नगर निगम के टाउन हाल में बैठक कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

स्नान क्षेत्र को आठ जोन एवं 22 सेक्टरों में विभाजित करते हुए इसकी कमान एसपी सिटी नवनीत सिंह को सौंपी। जिलाधिकारी ने कहा कि अतिक्रमण एवं भिखारियों को स्नान क्षेत्र से हटाने को प्राथमिकता में रखा जाए।

सीओ सिटी क्षेत्र का भ्रमण कर समस्याओं पर फोकस करें। एसएसपी ने कहा हरकी पैड़ी घाट पर महिला एवं पुरुष श्रद्धालुओं के आने एवं जाने के लिए अलग-अलग लाइनें लगवाई जाएं। इसके अलावा कोई भी पुलिसकर्मी दूसरे पुलिसकर्मी के आने से पहले ड्यूटी स्थल नहीं छोड़ेगा। किसी सेक्टर में कोई जाम न लगे। इस दौरान एसपी सिटी नवनीत सिंह भुल्लर, एसपी देहात समेत सीओ, एसओ, इंस्पेक्टर सहित मेला ड्यूटी में आए पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

यहां है पार्किंग की सुविधा
चमगादड़ टापू पार्किंग, लालजीवाला पार्किंग, पंतद्वीप पार्किंग, पं. दीनदयाल उपाध्याय पार्किंग (धोबीघाट पार्किंग), मोतीचूर पार्किंग, गौरीशंकर पार्किंग, नीलधारा पार्किंग, ऋषिकुल मैदान, ग्रीन विस्टा पार्किंग-बसों के लिए, अलकनंदा पार्किंग, कागंड़ी पार्किंग, बैरागी कैंप पार्किंग।

नजीबाबाद की ओर से आने वाले सभी यात्री वाहनों को 4.2 किमी से सीधे गौरीशंकर एवं नीलधारा पार्किंग में लाया जाएगा। जिन वाहनों को ऋषिकेश/देहरादून की ओर जाना होगा वह हनुमान मंदिर के सामने से होते हुए चीला मार्ग से गंतव्य को जा सकेंगे। किसी भी दशा में चंडी चौकी से चंडी चौक की ओर वाहनों को नहीं आने दिया जाएगा।

दिल्ली-मेरठ की ओर से आ रहे वाहन नारसन बार्डर से डायवर्ट कर लखनौता, झबरेड़ा, इकबालपुर, पुहाना, रुड़की, लंढोरा, लक्सर-सुल्तानपुर, फेरूपुर, कनखल, शंकराचार्य चौक से बैरागी कैंप पहुंचेंगे। देहरादून/ऋषिकेश एवं नजीबाबाद जाने वाले हल्के वाहन चंडीचौक, चंडीचौकी से वाया चीला मार्ग एवं सीधे नजीबाबाद जाएंगे। रोडवेज बस का भी यही मार्ग रहेगा।

सहारनपुर से आने वाले वाहन भगवानपुर से धनौरी की ओर से न आकर बल्कि रुड़की से सीधे राजमार्ग से होते हुए पहुंचेंगे।

यात्री वाहन नेपाली तिराहे से रायवाला होते सीधे ही दिल्ली एवं नजीबाबाद की ओर जा सकेंगे। नजीबाबाद से देहरादून/ऋषिकेश की ओर वाहन 4.2 किमी से नीलधारा, हनुमान मंदिर से चीला मार्ग होते हुए जाएंगे।

शहर में यातायात का दबाव पड़ने पर यातायात प्लान लागू होगा। राजमार्ग पर सुबह चार बजे से भारी वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। केवल आवश्यक सेवाओं वाले वाहन आ-जा सकेंगे। देहरादून ऋषिकेश जा रहे भारी वाहन वाया छुटलमपुर होते हुए आ-जा सकेंगे।

रायवाला की ओर से आ रहे भारी वाहन नेपाली फार्म पर रोक लिए जाएंगे। दूधाधारी चौक से शंकराचार्य चौक तक ऑटो/विक्रम पूर्ण रूप से प्रतिबंधित होंगे। हाईवे पर रिक्शा, तांगा, रेहड़ी, ठेला नहीं चलने दिए जाएंगे। ज्वालापुर से बस स्टैंड की ओर जा रहे ऑटो रिक्शा विक्रम भगत सिंह चौक, हिल बाई पास, वाल्मीकि चौक होते हुए जाएंगे।

किसी भी दशा में रेलवे स्टेशन से शिवमूर्ति, वाल्मीकि चौक की ओर नहीं जाएंगे। दूधाधारी चौक एवं चंडी देवी की ओर से ऑटो, विक्रम नहीं आएंगे। जीरो जोन में ऑटो, विक्रम, रिक्शा, तांगा प्रतिबंधित रहेंगे।

पुलिस ने बिछुड़ों को अपनों से मिलाने के लिए खोया-पाया सेल बनाया गया। जेबकतरों, उठाईगीरों, जहरखुरानों आदि की धरपकड़ के लिए विशेष दस्ते का गठन किया गया है। बम निरोधक दस्ते के भी दो दस्ते सक्रिय रहेंगे। जल पुलिसकर्मी के 11 कर्मचारी संवेदनशील स्थान पर मौजूद रहेंगे।

मेला क्षेत्र में 10 सीओ, 19 एसओ इंस्पेक्टर, 100 दारोगा, नौ महिला दारोगा, 95 हेड कांस्टेबल 474 कांस्टेबल, 89 महिला कांस्टेबल, चार टीएसआई, 15 हेड कांस्टेबल यातायात, 66 यातायात कांस्टेबल, सशस्त्र प्रशिक्षण केंद्र से 276 जवान एवं आठ कंपनी पीएसी तैनात रहेगी।