बागेश्वर में कार्तिक पूर्णिमा पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने बागनाथ मंदिर में भगवान बागनाथ की पूजा अर्चना की। बागनाथ मंदिर में भगवान शंकर को बागनाथ के रूप मे पूजा जाता है।

इस मंदिर मे सरयू-गोमती संगम से जल लाकर भक्तों ने भगवान बागनाथ का जलाभिषेक किया और पारंपरिक रीति-रिवाजों से भगवान बागनाथ की पूजा-अर्चना की।

मंदिर के रुद्राभिषेक के मुख्य पुजारी का कहना है कि कार्तिक पूर्णिमा को दक्षिणायन का आखिरी पर्व माना जाता है और इस दिन विशेष पूजा-अर्चना मंदिरों में की जाती है।

bagnath-temple1

इस दिन भगवान शंकर के रुद्राभिषेक का विशेष महत्व होता है। इस पर्व पर लोग घरों में तुलसी पूजन भी करते हैं।