श्रीनगर।… पौराणिक व ऐतिहासिक बैकुंठ चतुर्दशी के मेले का आगाज मंगलवार को होगा। मुख्यमंत्री हरीश रावत सुबह 11 बजे इस मेले का उद्घाटन गोला पार्क में ध्वजारोहण के साथ करेंगे। आठ दिवसीय मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रम, खेलकूद व प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा।

मेले के पहले दिन नगर क्षेत्र के सभी विद्यालयों की गोला पार्क में परेड, जीआईएंडटीआई मैदान में विकास प्रदर्शनी का शुभारंभ किया जाएगा। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत शाम को कमलेश्वर मंदिर मैदान में लोकगायक मंगलेश डंगवाल व मीना राणा की भजन संध्या होगी।

बैकुंठ चतुर्दशी पर्व के अवसर पर कमलेश्वर मंदिर में 215 निसंतान दंपति खड़ा दीया अनुष्ठान करेंगे। मंदिर के महंत आशुतोष पुरी ने बताया कि अनुष्ठान का मुहूर्त शाम गोधूलि बेला से शुरू होगा। अनुष्ठान बुधवार सुबह 4 बजे तक चलेगा।

बैकुंठ चतुर्दशी मेले में पहली बार संस्कृत भाषा में नाटक का मंचन किया जाएगा। अखिलेश चंद्र चमोला ने बताया कि मेले में लोक संस्कृति पर संस्कृत भाषा में नृत्य नाटिका का आयोजन किया जाएगा।

गढ़वाल विवि एमएसडब्ल्यू के छात्र खड़ा दीया अनुष्ठान के दौरान मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के सहयोग के लिए स्वैछिक सहयोग देंगे। एमएसडब्ल्यू की छात्रा कनकप्रभा रौथाण, उमा जोशी, आरती बुटोला व शिवानी ने बताया कि एमएसडब्ब्ल्यू की छात्राएं मंदिर परिसर के अंदर महिला श्रद्धालुओं की सुविधाओं का विशेष ध्यान रखेंगी।

मेले के दौरान खेल तमाशों का किराया यथावत रहेगा। पालिका अध्यक्ष विपिन मैठानी ने कहा कि साल 2012 से चले आ रहे दरों पर खेल तमाशे संचालित किए जाएंगे।