अस्थायी राजधानी देहरादून स्थित नारी निकेतन में एक संवासिनी के साथ रेप और गर्भपात मामले की पुलिस अलग से जांच कर रही है। इस मामले में पुलिस का पूरी ध्यान उस फैक्स मशीन पर है जहां से मीडिया को गुप्त पत्र फैक्स किया गया था।

पुलिस का मानना है कि मामले के खुलासे में यह फैक्स मशीन अहम साबित हो सकती है। यही वजह है कि पुलिस फैक्स मशीन की लोकेशन और भेजने वाले के संबंध में जानकारी जुटा रही है। रविवार से पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

17 नवंबर को किसी अज्ञात व्यक्ति ने चिट्ठी भेजकर नारी निकेतन में एक संवासिनी के शारीरिक शोषण और गर्भपात का खुलासा किया था। हिन्दी दैनिक अमर उजाला में पत्र प्रकाशित होने के बाद हड़कंप मच गया।

हालांकि, मामले की जांच जिला प्रशासन द्वारा गठित टीम कर रही है, लेकिन वह मूल मुद्दे की ओर नहीं बढ़ रही है। ऐसे में पुलिस अपनी तरफ से मामले की जांच कर रही है, जो काफी अहम मानी जा रही है।

एसएसपी डॉ. सदानंद दाते ने बताया कि पुलिस अपनी अलग जांच कर रही है। इसमें सबसे पहले उस फैक्स मशीन के संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है, जहां से चिट्ठी भेजी गई थी। इसके बाद भेजने वाले की पहचान की जाएगी। इसके बाद अन्य जानकारियां जुटाने की कोशिश होगी।

संवासिनी के कथित यौन उत्पीड़न मामले में एडीएम के नेतृत्व में गठित जांच समिति ने रविवार को फिर नारी निकेतन जाकर संवासिनियों के बयान दर्ज किए। इस मामले की शुरुआत जिस गोपनीय पत्र से हुई थी उसकी पड़ताल नहीं हो पाई है।

शनिवार को तीन संवासिनियों के मेडिकल हुए थे और उनकी रिपोर्ट आने का इंतजार जांच समिति कर रही है। समिति के मुताबिक पड़ताल पूरी करने में तीन-चार दिन और लगेंगे।

जिला प्रशासन की जांच उन मूक-बधिर संवासिनियों के इर्दगिर्द घूम रही, जिन्होंने एक वीडियो क्लिप में नारी निकेतन में गड़बड़ियों के संबंध में आरोप लगाए हैं। दूसरी ओर, जांच दल उस गुप्त पत्र तक नहीं पहुंच पाया है जो 17 नवंबर को मीडिया को भेजा गया था।

गुप्त पत्र के हवाले से मामला प्रकाशित होने के बाद वीडियो क्लिप भी मीडिया के हाथ लग गई थी। जिला अधिकारी रविनाथ रमन के स्तर से पहले जिला प्रोबेशन अधिकारी को जांच सौंपी गई, लेकिन जब मामला उछला तो एडीएम के अधीन तीन सदस्यीय जांच समिति गठित करनी पड़ी।

शनिवार को जिला प्रशासन ने जिन तीन संवासिनियों का मेडिकल करवाया है, उसकी रिपोर्ट को अहम माना जा रहा है। कुछ मेडिकल टेस्ट की जांच तो हो चुकी है, लेकिन पैथोलॉजी से संबंधित नमूनों की रिपोर्ट सोमवार को आएगी।