सांकेतिक तस्वीर

रामनगर।… कहते हैं ‘जाको राखे साईंया मार सके ना कोई’ एक बार फिर ये कहावत सच साबित हुई। अल्मोड़ा जिले के मौलेखाल में एक युवक अनियंत्रित होकर जंगल में बाइक सहित गहरी खाई में जा गिरा।

हाडकंपाती ठंड में वह पूरी रात बेहोशी की हालत में पड़ा रहा। ये भी संयोग ही रहा कि युवक को किसी जंगली जानवर ने अपना शिकार नहीं बनाया। सुबह उसे खाई से बाहर निकालकर संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया गया।

अल्मोड़ा जिले के मौलेखाल के ग्राम डगोंला निवासी सुरेंद्र सिंह (35 साल) शुक्रवार को किसी काम से बाजार गया था। शाम पांच बजे वह अपने घर लौट रहा था। इस बीच उसकी बाइक गांव के पास ही अनियंत्रित होकर गहरी खाई में गिर गई, जहां वह सारी रात बेहोश पड़ा रहा।

शनिवार सुबह उसी सड़क से गुजर रहे गाड़ियों के ड्राइवरों ने खाई में एक बाइक पड़ी देखी तो आसपास के लोगों को हादसे के बारे में जानकारी दी। लोगों ने खाई में नीचे उतरकर देखा तो एक व्यक्ति बेहोश पड़ा था। लोग उसे खाई से निकालकर सड़क तक लाए और उसकी शिनाख्त सुरेंद्र सिंह के रूप में हुई। इसके बाद सुरेंद्र को संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती कराया।

डॉक्टर प्रशांत कौशिक ने बताया कि सुरेंद्र के सिर में गंभीर चोट होने के चलते होश नहीं आया। उसे एमआरआइ के लिए रेफर किया गया।