उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून के नारी निकेतन के कथित यौन शोषण के मामले में समाज कल्याण मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने कड़ा रुख अख्तियार किया है। उनका कहना है कि पूरे मामले की जांच कराई जा रही है। अगर कोई भी दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने सुरक्षा के मद्देनजर अब नारी निकेतन में सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए हैं।

सुरेन्द्र सिंह नेगी का कहना है कि पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच कराई जा रही है। क्या इस मामले की सच्चाई है। क्या वाकई नारी निकेतन के भीतर इस तरह की किसी घटना को अंजाम दिया गया है।

उनका कहना है कि इस मामले के डीएम को भी आदेश दिए गए हैं कि इस तरह की घटना दोबारा ना हो, इसके लिए कठोर कदम उठाए जाएं। उनका कहना है कि नारी निकेतन के कैंपस में सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए गए हैं, साथ ही उनका कहना है कि नारी निकेतन के भीतर आने-जाने वालों पर पैनी नजर रखी जा रही है।

समाज कल्याण मंत्री ने विधानसभा में एक उच्चस्तरीय बैठक की, जिसमें नारी निकेतन के मामले पर भी विस्तारपूर्वक चर्चा की। इस बैठक में प्रमुख सचिव स्वास्थ्य, सचिव समाज कल्याण के साथ कई अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

cctv-camera

समाज कल्याण मंत्री का कहना है कि यह एक संगीन घटना है अगर इस तरह की घटनाएं नारी निकेतन के भी भीतर होंगी तो दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

साथ ही उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी। समाज कल्याण मंत्री का कहना है कि इस बात की जांच की जा रही है, आखिर इस घटना के पीछे किन अधिकारियों की भूमिका सवालों के घेरे में रही है।

फिलहाल यह गौरतलब बात है कि राजधानी देहरादून के नारी निकेतन में कई बार इस तरह की घटनाओं की बात सामने आई है जो नारी निकेतन में रहने वाली महिलाओं के यौन शोषण से जुड़ी रही है। फिलहाल ऐसे में देखना होगा कि आखिर नारी निकेतन में रहने वाली संवासनियों की सुरक्षा को लेकर क्या कदम उठाते हैं।