कामकाजी महिलाओं को उत्तराखंड की अस्थाई राजधानी देहरादून में सुरक्षित बस सेवा देने के लिए पुलिस प्रशाशन ने एक पहल की है। अब पुलिस प्रशासन ने देहरादून में महिला केबिन की बसों का संचालित करने का फैसला किया है।

शुरुआती तौर पर अस्थायी राजधानी देहरादून के प्रेम नगर इलाके में महिला केबिन की बसों का संचालन किया जाएगा। शनिवार 21 नवंबर से देहरादून के कई रूट पर बसों का संचालन होगा।

देहरादून की सड़कों पर महिलाओं व छात्राओं को सुरक्षित बस सेवा देने के लिए इस तरह की पहल की जा रही है। सिटी बसों में महिला केबिन होगा, जहां महिला सुरक्षा बैठकर यात्रा कर सकती हैं।

एसएसपी सदानंद दाते का कहना है कि देहरादून के राजपुर और प्रेम नगर क्षेत्रों में कई नामचीन शैक्षणिक संस्थान हैं, जिसमें भारी संख्या में छात्र-छात्राएं पढ़ाई करते हैं। ऐसे में कई बार शिकायतें मिलती हैं कि सिटी बसों में छात्राओं और महिलाओं के साथ अभद्रता की गई या फिर अश्लील हरकतें की गई है।

dehradun-city-bus

अब शहर में महिलाओं और छात्राओं को महफूज बस यात्रा के लिए बसों में केबिन बनाए जा रहे हैं जिसमें केवल महिलाएं ही बैठेंगी। आरटीओ आर.के. सुधांशु का कहना है कि परिवहन विभाग भी सुरक्षित बस यात्रा को लेकर काफी गंभीरता के साथ काम कर रहा है, जिससे देहरादून में महिलाओं और छात्राओं को सुरक्षित यात्रा सुविधा दी जा सके।

अधिकारियों का कहना है कि पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इस प्रोग्राम को शुरू किया जा रहा है, इसी के तर्ज पर अस्थायी राजधानी देहरादून के दूसरे क्षेत्रों में बस सेवा शुरू की जाएगी।

सिटी बस चालक संघ के अध्यक्ष विजय वर्धन डंडरियाल का कहना है कि देहरादून में लगातार यात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है, क्योंकि भारी संख्या में मजदूर और दूसरे कर्मी भी बसों में यात्रा करते हैं, ऐसे में महिला व युवतियों के साथ छात्राओं को सुरक्षित बस सुविधा देने के लिए एक प्रयास किया जा रहा है।