नए साल के आने में अभी एक महीने से भी अधिक का समय बचा है। लेकिन जश्न मनाने के शौकीनों ने अभी से ही उत्तराखंड में नए साल के लिए बुकिंग शुरू कर दी है। वन विभाग के गेस्ट हाउसों की एडवांस बुकिंग होने लगी है। नए साल का जश्न मनाने के लिए हर साल देश-दुनिया के दूसरे कोनों से लोग बड़ी संख्या में उत्तराखंड लोग आते हैं।

वन विभाग के गेस्ट हाउसों में दूसरे राज्यों के पर्यटक नए साल को अपने ही अंदाज में सेलिब्रेट करते हैं। कार्बेट नेशनल पार्क, कालागढ़ टाइगर रिजर्व और लैंसडौन वन प्रभागों के गेस्ट हाउसों की नए साल पर डिमांड बढ़ जाती है।

vinakyak-forest-rest-house

साल 2016 के जश्न के लिए वन विभाग के गेस्ट हाउसों की अभी से एडवांस बुकिंग होने लगी है। लैंसडौन वन प्रभाग के कोल्हू गेस्ट हाउस की डिमांड सबसे अधिक होती है, क्योंकि जंगल से घिरे इस गेस्ट हाउस के चारों ओर वन्य जीव आसानी से देखे जाते हैं, जिसके चलते पर्यटकों की ये पहली पसंद होती है।

guest-house-lansdowne

वहीं दूसरी ओर लैंसडौन वन प्रभाग के डीएफओ नीतीश मणि त्रिपाठी की मानें तो इस साल वन विभाग के गेस्ट हाउसों में किसी भी प्रकार के शोर-शराबे पर पूरी तरह से रोक रहेगी और यदि कोई नियमों का उल्लंघन करता पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।