मुख्यमंत्री हरीश रावत बुधवार को खटीमा दौरे से वापसी कर रहे थे। लेकिन इस दौरान उन्होंने उत्तराखंड की सड़क को छोड़कर उत्तर प्रदेश की सड़क से जाना मुनासिब समझा। अब स्थानीय बीजेपी विधायक पुष्कर धामी ने इस बात को मुद्दा बनाते हुए मुख्यमंत्री पर विकास की अनदेखी के आरोप लगाया है।

खटीमा से बीजेपी विधायक धामी ने मुख्यमंत्री द्वारा सड़क मार्ग से हल्द्वानी वापसी पर जर्जर हो चुके खटीमा सितारगंज मार्ग को छोड़ उत्तर प्रदेश के मझोला-सितारगंज मार्ग से वापसी करने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। उन्होंने मुख्यमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा की मुख्यमंत्री राज्य की सड़कों की जर्जर हालत के चलते उत्तराखंड की सड़क छोड़कर यूपी की सड़क का प्रयोग कर रहे हैं। जबकि आम जन मानस रोजाना इन जर्जर सड़कों पर चलने को मजबूर है।

बीजेपी विधायक के द्वारा सीएम पर लगाए आरोपों पर पलटवार करते हुए यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भुवन कापड़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने यूपी की सड़क को दोनों प्रदेशों के सीमांत यातायात को सुगम बनाने के लिए सिडकुल के माध्यम से बनाया था। जिसकी गुणवत्ता के निरिक्षण के लिए मुख्यमंत्री ने सड़क मार्ग के लिए यूपी की सड़क को चुना था।

कापड़ी ने कहा, बीजेपी के विधायक धामी जो सीएम पर विकास की अनदेखी का आरोप लगा रहे हैं वो खुद पिछले चार सालों में विधायक निधी के आठ करोड़ रुपये को विकास कार्यों में खर्च न कर अपने कोष में बचाए हुए हैं।