बीजेपी और हिन्दूवादी नेता तो अक्सर गौहत्या करने वालों को देश से बाहर करने की बात करते ही रहते हैं। अब इस लिस्ट में कांग्रेस नेता और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत का नाम भी जुड़ गया है।

मुख्यमंत्री ने गाय की हत्या करने वालों को भारत का सबसे बड़ा दुश्मन बताते हुए कहा कि ऐसे लोगों को भारत में रहने का कोई अधिकार नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में गाय का वध करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

गुरुवार को गोपाष्टमी के मौके पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत धार्मिक नगरी हरिद्वार पहुंचे। यहां श्यामपुर में गैंडीखाता बसवाचंदपुर गांव पहुंचकर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गोपाष्टमी के मौके पर गौ-पूजन करते हुए राज्य के पहले गौ स्वास्थ्य केन्द्र का उद्घाटन किया।
harish-rawat

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड में जो गौमाता का वध करेगा, उसको कानून सख्त से सख्त सजा देगा और गौमाता की रक्षा करने के लिए हमें चाहे किसी भी सीमा तक जाना पड़े हम पीछे नहीं हटेंगे। साथ ही रावत ने कहा कि गौवध करने वालों के खिलाफ उत्तराखंड सरकार ने सबसे पहले प्रस्ताव पारित किया था।

उन्होंने कहा कि उन पर संत महापुरुषों की बड़ी असीम कृपा हैं और उनके द्वारा दिए गए सभी प्रस्तावों पर वह मोहर लगा रहे हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड देश का एकमात्र ऐसा राज्य है जहां गोवंश सबसे ज्यादा सुरक्षित ही नहीं, बल्कि तेजी से फलफूल भी रहा है।

harish-rawat-ajay-bhatt

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आम जनता की अर्थव्यवस्था को गोवंश से जोड़ने की कोशिश कर रही है। सम्मेलन में नैनीताल के सांसद भगत सिंह कोश्यारी, राज्य में नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट सहित बड़ी संख्या में साधु-संतों ने भी शिरकत की।

इस मौके पर सीएम रावत ने राज्य के बीजेपी सांसदों पर भी जमकर निशाना साधते हुए कहा कि गाय और गंगा की बात करने वाले बीजेपी सांसद अर्धकुंभ के लिए एक फूटी कौड़ी तक केंद्र से नहीं दिला पाए।