पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पौड़ी शहरवासियों को इंदिरा अम्मा कैंटीन खोलकर लोगों को सौगात दी है। यही नहीं राज्य के कई अन्य शहरों में भी इंदिरा अम्मा कैंटीन खोली गईं।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गुरुवार को कैंटीन का उद्घाटन किया, जिससे अब पौड़ी में आम वर्ग के लोगों को सस्ते खाने के लिए यहां वहां भटकने की जरूरत नहीं है। इंदिरा अम्मा कैंटीन खुलने से डीएम कार्यालय के बाहर ही मात्र 25 रुपये की थाली में लोगों को भरपेट खाना मिल सकेगा।

डीएम कार्यालय के बाहर खुली इंदिरा अम्मा कैंटीन का गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उद्घाटन कर आम लोगों को सौगात भेंट की है। इंदिरा गांधी की जयंती पर मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इसका विधिवत शुभारंभ कर लोगों को कैंटीन खुलने की बधाई भी दी।

सीएम रावत का कहना है कि देश में इंदिरा गांधी गरीबों की मसीहा बनकर रही हैं। इसी कारण राज्य में गरीबों के लिए राज्य सरकार की तरफ से इंदिरा अम्मा भोजनालय खोला जा रहा है, जिससे गरीब लोगों को दो वक्त का खाना सस्ता और टाइम से मिल सके।

वहीं गरीबों के लिए इंदिरा अम्मा भोजनालय खुलने से लोगों के चेहरे भी खिल उठे हैं। लोगों का कहना हैं कि अब रात को कोई भी मजदूर भाई खाली पेट नहीं सोया करेगा, क्योंकि 25 रुपये की थाली में ही उसे सारी चिजे मिल रही हैं।

25 रुपये में दो मडवे की रोटी दो गेहूं की रोटी चावल, दाल, सब्जी और चटनी भी दी जा रही हैं। जिस कारण मुख्यमंत्री की इस पहल की सभी लोगों ने खूब सरहाना की है। अस्थायी राजधानी देहरादून की तर्ज पर पौड़ी में भी अब इंदिरा अम्मा भोजनालय का शुभारंभ हो गया है। जिसका खाना खाने के लिए सुबह से ही लोगों की भीड़ लग गई है।

5 स्वयं सेवक महिलाओं को इस काम की पूरी जिम्मेदारी दी गई हैं जो लोगों तक अपना खाना परोसने का काम करेगी। फिलहाल राज्य सरकार द्वारा और जिलों में भी इंदिरा अम्मा भोजनालय खोलने की तैयारी चल रही हैं, जिससे सभी गरीब लोगों को सस्ता और ताजा खाना मिल पाए।

मुख्यमंत्री जी का ड्रीम प्रोजेक्ट : मंत्री दुर्गापाल
मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी इंदिरा अम्मा भोजन योजना का शुभारंभ गुरुवार को देश की पूर्व प्रधामंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी के जन्मदिन के अवसर पर मंत्री हरीश दुर्गापाल ने चम्पावत के सहकारी समिति के भवन में किया।

इस मौके पर कैबिनेट मंत्री दुर्गापाल ने कहा कि यह मुख्यमंत्री जी का ड्रीम प्रोजक्ट है। इस योजना के तहत राज्य की जनता को सस्ता भोजन उपलब्ध हो पाएगा।

वही लोगों को रोजगार और स्वरोजगार मिले इसके मद्देनजर मुख्यमंत्री द्वारा यह योजना प्रारंभ की गई है। वहीं कैबिनेट मंत्री ने कहा कि हमारे राज्य में 55 प्रतिशत भागीदारी महिलाओं की है।

उन्हें रोजगार और स्वरोजगार किस माध्यम से दिया जाए उसी के मद्देनजर मुख्यमंत्री द्वारा यह योजना प्रारंभ की गई है। उन्होंने कहा कि जिस घर में अच्छा भोजन बनता है उसका श्रेय भेाजन बनाने वाली महिलाओं को जाता है। इसलिए यह कार्य महिला स्वंय सहायता समूह के माध्यम से किया जा रहा है।

काबिना मंत्री ने कहा कि इस योजना से जहां गरीबों को सस्ता भोजन उपलब्ध होगा वहीं स्वंय सहायता समूहों से जुडी महिलाओं को स्वरोजगार मिलेगा और वह आत्म निर्भर भी होंगी। साथ ही योजना के अंतर्गत प्रत्येक भोजन थाली में सरकार द्वारा दस रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।

हल्द्वानी में सिंचाई मंत्री यशपाल आर्य ने लिया खाने का स्वाद
हल्द्वानी में भी गुरुवार से इंदिरा अम्मा भोजनालय की शुरुआत हुई। सुबह नौ बजे से लेकर तीन बजे तक खुलने वाले इस कैंटीन का शुभारंभ सिंचाई मंत्री यशपाल आर्य ने किया।

सरस मार्केट के दूसरे फ्लोर में खुली इस कैंटीन में हर वर्ग और तबके के लिए बीस रुपये में स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। इस मौके पर सिंचाई मंत्री यशपाल आर्य सहित डीएम एवं पुलिस और प्रशासन के साथ शहर के तमाम लोगों ने भोजन का स्वाद लिया।

वहीं खाने की गुणवत्ता और कैंटीन के प्रचार प्रसार के लिए डीएम ने एसडीएम और सिटी मजिस्ट्रेट को निर्देशित किया है। सिंचाई मंत्री ने कहा है कि जल्द ही इस योजना को तहसील स्तर पर शुरू करने पर सरकार विचार कर रही है।