उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बीजेपी नेताओं द्वारा उनके कार्यक्रमों के कारण शासकीय कार्य प्रभावित होने के आरोपों का खंडन किया है। मुख्यमंत्री का कहना है कि हताशा में बीजेपी नेता ऐसे आरोप लगा रहे हैं।

गौरतलब है कि नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने मुख्यमंत्री के गली मोहल्लों में जाकर कार्यक्रमों में शामिल होने को नौटंकी बताया है। नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट का कहना है कि सीएम के इस सियासी नाटक के कारण शासन में फाइलें पेंडिंग हो रही हैं।

उधर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत ने कहा है कि लगातार घोषणाएं कर रहे सीएम की घोषणाएं तो पूरी ही नहीं हो रहीं। बीजेपी के दोनों नेताओं के आरोपों पर जवाब देते हुए सीएम ने कहा कि न तो उनके टेबल पर कोई फाइल लंबित है और न ही शासन का कोई काम प्रभावित हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी घोषणाओं की स्थिति तो इतनी अच्छी है कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत के विधानसभा क्षेत्र में की गई सभी घोषणाएं भी पूरी हो गई हैं। हरीश रावत ने कहा कि सरकार के परफॉर्मेंस से घबराकर बीजेपी नेता बेकार के आरोप लगाने में लगे हैं।