लंदन।… ब्रिटिश मीडिया के एक वर्ग द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अतीत को लेकर की जा रही आलोचनाओं का परोक्ष जवाब देते हुए उन्होंने शुक्रवार को कहा कि किसी देश का मूल्यांकन करने के लिए समाचारपत्रों और टीवी की हेडलाइन्स को पैमाना नहीं माना जा सकता है।

मोदी ने लंदन में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा, ‘भारत केवल वह नहीं है जितना अखबारों में दिखता है। भारत उससे कहीं बड़ा है। सवा सौ करोड़ की आबादी वाला भारत कहीं बड़ा और बेहतर है जो टीवी की स्क्रीन से कहीं अधिक व्यापक है।’

उल्लेखनीय है कि पीएम मोदी की ब्रिटेन यात्रा के दौरान ब्रिटिश मीडिया के एक वर्ग ने उनके अतीत के बारे में कही गई बातों और उनके मानवाधिकारों से संबंधित रिकॉर्ड की खबरों और भारत में कथित असहिष्णुता को लेकर आलोचनात्मक टिप्पणियां की हैं।