पढ़ें पीएम मोदी ने ब्रिटिश संसद में क्यों कहा, ‘कैमरन सुकून और राहत महसूस कर रहे हैं’

लंदन।… प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ब्रिटिश संसद की रॉयल गैलरी से अपने संबोधन के दौरान कुछ मौकों पर ब्रिटिश सांसदों और उनके साथियों को काफी गुदगुदाया। उन्होंने कभी मशहूर फुटबॉलर डेविड बेकहम तो कभी भांगड़ा का जिक्र कर सांसदों को हंसाया।

अपने लिए दरवाजे खोलने के लिए ब्रिटिश संसद के स्पीकर का शुक्रिया अदा करते हुए मोदी ने कहा, ‘मुझे पता है कि संसद का सत्र नहीं चल रहा। प्रधामनंत्री कैमरन सुकून और राहत महसूस कर रहे हैं।’ इस पर पूरा सदन ठहाकों से गूंज उठा।

उन्होंने प्रधानमंत्री कैमरन को ‘फिर एक बार, कैमरन सरकार’ वाले नारे की याद दिलाई, जिससे इस साल के ब्रिटिश चुनाव में कैमरन ने इस्तेमाल किया था। मोदी ने कहा, ‘मैं आपको याद दिलाना चाहता हूं, प्रधानमंत्री जी कि एक चुनावी नारे के लिए आप पर मेरी रॉयल्टी बकाया है।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि कई ऐसी चीजें हैं जिस पर यह कहना बड़ा मुश्किल है कि वे ब्रिटिश हैं या भारतीय।

उन्होंने कहा, ‘उदाहरण के तौर पर जगुआर या स्कॉटलैंड यार्ड। ब्रूक बांड चाय हो या मेरे दोस्त दिवंगत लॉर्ड गुलाम नून की करी।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि सबसे जोरदार बहस यह होती है कि लॉर्ड की पिच बहुत अजीब तरीके से स्विंग करती है या ईडन गार्डंस की विकेट में दरारें जल्दी पड़ जाती हैं।

उन्होंने कहा, ‘और हम लंदन के भंगड़ा रैप को उसी तरह पसंद करते हैं जैसे आप भारत के उपन्यासों को पसंद करते हैं।’ वेम्बली स्टेडियम में भारतीय समुदाय को अपने प्रस्तावित संबोधन पर मोदी ने कहा, ‘भारत में भी हर युवा फुटबॉलर बेकहम जैसा बनना चाहता है।’