अस्थायी राजधानी देहरादून में दिवाली पर आतिशबाजी व शॉट-शर्किट से करीब एक दर्जन दुकानों व घरों में आग लग गई। इससे लाखों रुपये का माल जलकर खाक हो गया। चकराता रोड पर चार दुकानों व गोदाम में आग लग गई, जिसमें दर्जाधारी सुशील राठी का कार्यालय भी जलकर खाक हो गया।

इसके अलावा बिंदाल पुल के पास स्थित एक कॉम्प्लेक्स की चार दुकानों में आग से लाखों का सामान जलकर राख हो गया। लैंसडौन चौक पर सीपीडब्लूडी कॉलोनी में सूखे पेड़ों में आग लगने से कॉलोनी वासियों में अफरा-तफरी मच गई। गुरुवार सुबह बैंड बाजार में टोकरियों के गोदाम में आग से लाखों का नुकसान हुआ।

इस दौरान फायर ब्रिगेड की गाड़ियां दिनभर दौड़ती रहीं और आग पर काबू पाया। वहीं, देहरादून जिले में आतिशबाजी से करीब छह दर्जन लोग झुलस गए। इनमें कुछ ने कोरोनेशन अस्पताल, जबकि कुछ ने निजी अस्पतालों में इलाज कराया। अग्निकांड की बड़ी घटनाएं चकराता रोड स्थित गोल्डी कॉम्प्लेक्स व बिंदाल पुल के नजदीक एक कॉम्प्लेक्स में बीती रात हुई।

गोल्डी कॉम्प्लेक्स में दर्जाधारी सुशील राठी का कार्यालय भी है। रात लगभग दस बजे लगी आग में उनके कार्यालय के साथ ही तीन अन्य गोदाम जल गए। एक गोदाम कपड़े का बताया जा रहा। दमकल की तीन गाड़ियों ने आग पर बमुश्किल काबू पाया। आग लगने के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

कैंट क्षेत्र में बिंदाल पुल के पास स्थित एक कॉम्प्लेक्स में भी बीती रात आग से चार गोदाम जल गए। वहीं, मोहिनी रोड पर एक घर में आतिशबाजी से आग लग गई। इसके साथ ही करीब डेढ़ दर्जन जगह आग की छिटपुट घटनाएं भी सामने आई हैं।