हल्द्वानी : दिवाली पर जलाए दीये से पूरा घर जलकर हुआ राख

हल्द्वानी में दीपों के त्योहार दिवाली पर मंदिर में जलाए दीप ने गरीब पूरन सिंह की पूरी गृहस्थी जलाकर राख कर दी। दीये से भड़की आग ने बिस्तर से लेकर कपड़े और बर्तन से लेकर पैसे तक सब जला डाला। हालांकि जानमाल को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। लेकिन, परिवारजनों के पास तन के कपड़े के अलावा कोई दूसरा कपड़ा तक नहीं बच पाया।

चिकन शाप में काम करने वाले पूरन बिठोरिया गली नंबर एक में नारायण नगर इंटर कॉलेज के पास एक छोटे से कमरे में किराये पर रहकर पत्नी व दो बच्चों को पालते हैं। एक ही कमरे में बेडरूम से लेकर किचन तक है। बीती रात लक्ष्मी पूजन के बाद वह परिवार के साथ बिठोरिया में ही रहने वाले अपने पिता नंदन सिंह के घर चले गए।

सुबह करीब चार बजे पड़ोसी किरायेदार बाहर आई तो उसने पूरन से कमरे से धुंआ उठते देखा। हो-हल्ला मचा तो दरवाजा तोड़कर आग बुझाने की कोशिशे शुरू कर दी गईं, लेकिन तब तक आग विकराल रूप ले चुकी थी। लोगों ने अपने घरों से पानी लाकर करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

लेकिन, तब तक बिस्तर, कपड़े-लत्ते, पांच हजार रुपये, बर्तन, बक्सा सभी सामान जलकर राख हो चुके थे। पूरन ने बताया कि अब तन पर पहने कपड़ों के अलावा उनके पास कुछ नहीं बचा है। पूरन ने बताया कि घर में बने मंदिर में वह दीया जलाकर गए थे।

उधर दूसरी ओर रामपुर रोड पर महिंद्रा शोरूम के पास एक घास के ढेर में, काठगोदाम वाइन शाप के पास गोशाला की छत पर रखी घास व तिकोनिया मंदिर के पास भी मिठाई की दुकान में आग लग गई।