वास्तु : दीपावली पर दिशानुसार करें रोशनी, मिलेगा मनचाहा फल

दीपावली रोशनी का त्योहार है या हम इसे इस प्रकार से भी कह सकते हैं कि दीपावली अंधेरे एवं दिमाग से नकारात्मकता को दूर भगाने का पर्व है। इसलिए जब आप अपने घर को जगमगाती रंग-बिरंगी रोशनियों से सजाते हैं तो यह आवश्यक है कि आप अपने अन्तर मन में भी उजाला करें, अर्थात मन की समस्त विकृतियों को दूर करके मन को शुद्ध एवं निर्मल करें।

रोशनी या उजाला हमारे अन्तर मस्तिष्क पर बहुत गहरा प्रभाव डालता है। हमारे घर के विभिन्न वास्तु जोन में पड़ी हुई निष्क्रिय ऊर्जाओं को सक्रिय कर उनकी शक्तियों को जगाती है। यदि आप अपने घर या फ्लैट के सही जोन में उपर्युक्त प्रकार की रोशनियां लगाकर सजाते हैं तो इसके बहुत अच्छे अपेक्षित परिणाम प्राप्त होंगे। दीपावली पर फैन्सी लाईट लगाने का बेहद चलन है और यदि ये लाईट वास्तु के उपाय भी कर दें तो इससे बेहतर और क्या होगा। हर दिशा के लिए उसके अनुकूल रंग की लाईट लगाना आपको अच्छे परिणाम देती है।

उत्तर दिशा में प्रयोग करे नीले रंग की लाईट
यदि आपको अपने गोल को प्राप्त करने में कोई स्पष्टता नजर नहीं आ रही है एवं आप अपने जीवन को वृहद दृष्टिकोण से नहीं देख पा रहे हैं चहुंओर दिशा विहीन सा महसूस कर रहे हैं तो आप उत्तर-पूर्वी जोन में नीले रंग की लाईट लगाएं। उत्तर-पूर्वी जोन मस्तिष्क स्पष्टता एवं बुद्धिमता का जोन है।

पूर्व में हरा रंग शुभ
यह आपका समाज एवं सम्प्रदाय से जुड़ाव को सुनिश्चित करेंगी। आपको अपनी समस्याओं का समाधान भी नजर आने लगेगा। दीपावली पर मिले उपहार भी इस दिशा में रखे।

दक्षिण में लगाएं लाल लाईट
यदि आप ऐसा महसूस करते हैं कि जिस स्तर का आप परिश्रम एवं मेहनत करते हैं उसके अनुरूप आपको पहचान नहीं मिल पाती एवं लोग आपके द्वारा सम्पादित कार्यों एवं आपके प्रोडक्ट्स की सराहना नहीं करते हैं। ऐसा परिस्थिति होने पर आप अपने घर के दक्षिणी जोन में लाल रंग की रोशनी करें। यदि आप लाल बल्ब की रोशनी अपने घर के दक्षिण पूर्वी जोन में करते हैं तो इससे आपके रुके हुए पेमेन्ट्स मिल जाएंगे।

पश्चिम में सफेद रंग करे संचित धन में बढ़ोतरी
घर के पश्चिमी जोन में सफेद रंग की लाइट या सीएफएल लगाने से आश्चर्य जनक लाभों में बढोत्तरी होगी। उपरोक्त दिए गए नियमों के अनुरूप सजावट कर रोशनी करने से आपके द्वारा की गई मेहनत का पूरा प्रतिफल आपको प्राप्त होगा एवं आपको संतुष्टि भी प्राप्त होगी जो कि अति महत्वपूर्ण है।

ऐसे ही कुछ और टिप्स जिससे आपके घर में सकारात्मक शक्तियों का प्रवाह बढ़ेगा निम्नवत हैं…

lighting-on-diwali

  • पूजा घर के अन्दर लाल रंग नहीं होना चाहिए। यदि पूजा घर के अन्दर लाल रंग है तो इसे तुरंत हटा दें, क्योंकि पूजा घर में लाल रंग होने पर सकारात्मक शक्तियों का हृास होता है।
  • यदि आप अपने घर में सजाने के लिए कोई फोटो या चित्र खरीद रहे हैं कि चित्र में बंजर भूमि, सूखे हुए पेड, बीरान एवं रेगिस्तान नहीं दर्शाया गया हो चित्र में भरपूर हरे पेड पोंधे एवं सुंदर मन को हर्षित करने वाले दृश्य होने चाहिए। हरे भरे चित्रों को अपने घर की पूर्वी दीवार पर लगाएं इससे सामाजिक रूप से संपर्क बनाने की क्रिया शुरू हो जाती है।
  • लाल घोड़ो का जोड़ा- यदि आप अपने घर में सजाने के लिए कोई आइटम खरीदने की सोच रहे हैं तो इस दीपावली पर दौड़ते हुए लाल घोडों का जोड़ा खरीदें। यदि आप इसे दक्षिणी जोन में लगाते हैं तो आपके घर में धन का आगमन घोडों के दोड़ने के गति के अनुसार आएगा।
  • कुबेर का आर्शीवाद- आप अपने घर में सजाने की वस्तुओं में कुबेर की मूर्ति का चयन कर सकते हैं। ऐसा विश्वास है कि यदि कुबेर की आकृति लगाते हैं तो यह आपकी मेहनत एवं क्रियाओं को धन एवं विकास में परिवर्तित करते हैं। आप अपने घर के उत्तरी जोन में कुबेर की मूर्ति लगाएं। इसके स्थान पर स्वर्ण मंदिर अर्थात गोल्डन टेंपल की भी तस्वीर लगा सकते है।

यह लेख मशहूर ज्योतिष, वास्तु और फेंग्शुई विशेषज्ञ नरेश सिंगल से बातचीत के आधार पर लिखा गया है। वास्तु से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या के समाधान के लिए नरेश सिंगल से संपर्क करें…

+91-9810290286
9810290286@vaastunaresh.com, mail@vaastunaresh.com