देहरादून।… उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों को सशक्त बनाए जाने को जरूरी बताते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने रविवार को भारतीय स्टेट बैंक की प्रत्येक शाखा से एक महिला सहायता समूह को गोद लेने को कहा।

राज्य स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर भारतीय स्टेट बैंक द्वारा आयोजित प्रगति दौड़ का शुभारंभ करने के बाद मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि भारतीय स्टेट बैंक उत्तराखंड के विकास में सशक्त भागीदार है और इस भागीदारी को और मजबूत करने की आवश्यकता है।

रावत ने कहा कि राज्य गठन के अवसर पर प्रत्येक बैंक शाखा एक-एक महिला स्वयं सहायता समूह को गोद ले। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों को सशक्त किया जाना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि हमारे यहां के महिला स्वयं सहायता समूह एक कुशल व्यावसायिक संगठन के रूप में मजबूत हों, इसके लिए बैंकिंग क्षेत्र का सहयोग जरूरी है।

इस मौके पर एसबीआई के उप महाप्रबंधक एम.बी. दिवाकर ने भी संबोधित किया और कहा कि उनका बैंक महिला स्वयं सहायता समूहों की जिम्मेदारी लेगा और उन्हें हर प्रकार से पूरा सहयोग प्रदान किया जाएगा।