सांकेतिक तस्वीर

पौड़ी जिले में जहां एक तरफ ग्रामीण क्षेत्रों में कई विद्यालय टीचरों की कमी से जूझ हैं वहीं कुछ विद्यालय ऐसे भी हैं जिनमें छात्रों से ज्यादा शिक्षकों की संख्या है। ऐसे विद्यालयों में द्वारीखाल ब्लॉक का राजकीय प्राथमिक विद्यालय, गहड़ भी शामिल है। इस विद्यालय में पढ़ रहे एकमात्र छात्र को पढ़ाने के लिए विभाग ने दो महिला टीचरों को तैनात किया हुआ है।

पौड़ी-कोटद्वार मोटर मार्ग पर सतपुली से गुमखाल के बीच स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय, गहड़ को 90 के दशक में गहड़ और बैरगांव के लिए खोला गया था, लेकिन इन गांवों के बच्चे पास के ही प्राथमिक विद्यालय कोटलमल्ला में पढ़ते हैं।

शिक्षा विभाग की ओर से इस विद्यालय में दो शिक्षिकाओं और एक भोजन माता को तैनात किया गया है। विद्यालय का भवन भी ठीक हालत में है। इस विद्यालय में कमी है तो सिर्फ विद्यार्थियों की। वर्तमान में विद्यालय में केवल एक छात्र तीसरी कक्षा में पढ़ रहा है जो कि स्कूल की भोजनमाता का रिश्तेदार है।

जिला शिक्षा अधिकारी (बेसिक) कुंवर सिंह रावत ने द्वारीखाल ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय, गहड़ में मात्र एक छात्र होने के कारण इसे बंद करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पाए जाने पर इस विद्यालय की प्रधानाध्यापिका के वेतन को रोकने का आदेश भी दिया है।

डीईओ बेसिक कुंवर सिंह रावत ने बताया कि यहां के एकमात्र विद्यार्थी को नजदीक के दूसरे विद्यालय में शिफ्ट कर विद्यालय को बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। दोनों शिक्षकाओं को शिक्षकों की कमी से जूझ रहे अन्य स्कूलों में भेजा जाएगा।