उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था पर्यटन पर निर्भर है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन विभाग ने कवायद शुरू कर दी है। बुधवार को पर्यटन विभाग ने नैनीताल में जगरुकता बैठक की। नैनीताल क्लब में आयोजित इस बैठक में कुमाऊं कमिशनर बतौर अतिथि पहुंचे।

बैठक के दौरान नैनीताल के तमाम पर्यटन से जुड़े कारोबारियों ने पर्यटन सीजन के दौरान आ रही दिक्कतों पर चर्चा की गई। इस बैठक में स्थानीय लोगों और पर्यटन कारोबारियों को बताया गया कि राज्य में पर्यटन लगातार बढ़ रहा है, जिसके चलते होम स्टे के साथ ग्रामीण टूरिज्म को बढ़ावा देने के साथ पर्यटकों को गांवों तक ले जाने का काम किया जाए।

Naity-Almora

एडीबी द्वारा संचालित इस योजना के तहत न सिर्फ नैनीताल में पर्यटन विकास के काम किए जाने हैं, बल्कि सैलानियों को आलीशान होटलों के अलावा ग्रामीण पर्यटन से भी जोड़ने की कवायद पर बल दिया जा रहा है।

इसके साथ ही राज्य में होम स्टे के लिए भी पर्यटन कारोबारियों को कहा जा रहा है कि वो सैलानियों को इस ओर भी लेकर आएं। पर्यटन विकास अधिकारी सीमा शर्मा ने बताया है कि जल्द ही ये योजना नैनीताल जिले में लागू कर दी जाएगी, ताकि राज्य में पर्यटन का विकास किया जा सके और पर्यटकों को गांवों तक पहुंचाया जा सके।