मुख्यमंत्री हरीश रावत के कार्यक्रम में मंच पर बार बालाओं ने खूब लगाए ठुमके

मुख्यमंत्री हरीश रावत शुक्रवार को पौड़ी जिले में कोटद्वार के लक्सर इलाके में पहुंचे। यहां उन्होंने राजकीय महाविद्यालय का उद्घाटन किया। उन्होंने भुरनी खतीरपुर में साढ़े चार करोड़ की लागत से बनने वाले राजकीय महाविद्यालय के भवन का शिलान्यास किया।

शर्मनाक बात ये है कि महाविद्यालय के भवन के उद्घाटन में मुख्यमंत्री के दौरे से पहले ही उनकी अगवानी के लिए बनाया गए मंच पर बार बालाएं जमकर थिरकी। मुख्यमंत्री हरीश रावत के कार्यक्रम में पहुंचने से पहले ही आयोजकों ने मनोरंजन के लिए बार बालाओं को उसी मंच पर नचा दिया, जहां से सीएम शिलान्यास करने वाले थे।

बार-बालाओं ने फिल्मी धुनों पर कार्यक्रम में आए लोगों का जमकर मनोरंजन किया। मंच पर आयोजकों ने एक बैनर भी लगा रखा था। जिस पर एक तरफ राज्य सरकार के मुखिया हरीश रावत की तस्वीर छपी थी तो वहीं दूसरी तरफ अपने सुडोल शरीर के लिए विख्यात खानपुर विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन की फोटो लगी थी।

मुख्यमंत्री ने यहां मंच से कहा कि क्षेत्र के किसानों को गन्ने का भुगतान जल्द ही दे दिया जाएगा। इसके लिए जिलाधिकारी को आदेश दे दिए गए हैं। साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर उत्तराखंड का किसान खुशहाल होगा तभी उत्तराखंड विकास कर पाएगा।

इस दौरान मुख्यमंत्री हरी‌श रावत ने वाल्मीकि समाज के कार्यक्रम में भी शिरकत की। उन्होंने कहा कि महर्षि वाल्मीकि ने मानवता को आगे बढ़ाने का कार्य किया है यदि आज हम भगवान पुरुषोतम राम को मानते हैं तो वो रास्ता हमें बाल्मिकी जी ने दिखाया है।

वहीं इस दौरान मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा हम कई विधायकों के साथ गैरसैंण पहुंचेंगे, जिसमें आरक्षण सहित कल्याणकारी विधेयक और खेती, शिक्षा पर भी चर्चा होगी।