वास्तु के अनुरूप बगीचा या गार्डन आपके लिए आपकी तरक्की के लिए माली या बगीचे की देखभाल करने वाले के समान है। बगीचा घर की सुन्दरता एवं शान्ति को बढ़ाता है, चाहे वह बंगला हो या बडा घर यहां तक कि घर की बालकनी में दो फुट की जगह को भी बगीचे के रूप में परिवर्तित किया जा सकता है। यह न केवल सुन्दरता को बढ़ाता है बल्कि सम्पूर्ण परिवार के सदस्यों की तरक्की में भी सहायक होता है।

यदि आप अपने घर की बाहरी साज-सज्जा को खूबसूरत बनाते हैं तो इससे अच्छी चीज ऊर्जा आकर्षित होती है। इससे घर के अन्दर की शान्ति एवं सकारात्मकता को बनाए रखा जा सकता है। बगीचे को वास्तु के सिद्धान्तों के अनुरूप ऊर्जावान बनायए, तो इससे ऊर्जा का प्रवाह अच्छा होता है व कॉसमिक किरणों का प्रवाह भी सम्पूर्ण क्षेत्र में बना रहता है। बगीचा हमेशा उचित दिशा में ही बनाया जाना चाहिए, इसके अतिरिक्त इसमें विभिन्न तत्वों का सही मात्रा में समावेश होना चाहिए।

एनर्जी लाईन का संतुलन
bamboo

सही वास्तु व फेंग्शुई भूमि के वातावरण के अनुसार एनर्जी लाईन से सांमज्य बनाती है ताकि प्रकृति की फोर्सेस में उचित सन्तुलन बना रहे। विज्ञान के अनुसार वातावरण अदृश्य परन्तु महत्वपूर्ण एवं प्रबल शक्ति रेखाओं से भरा हुआ है। यह शक्ति रेखाएं अपने साथ या तो सांमजस्य लाती हैं या अलगाव, स्वास्थ्य लाती हैं या बीमारी एवं समृद्धि लाती हैं या गरीबी। वास्तु व फेंग्शुई का प्रयोग शक्ति रखाएं जो कि अद्भुत हैं को काम में लाने से सम्बन्धित है।

वास्तु अनुरूप बगीचा यदि सही दिशा में बनाया गया है तो इन सभी से बचाव सुनिश्चित करता हैं।

अपने गार्डन को इंटीरियर के साथ साथ वास्तु व फेंग्शुई के अनुसार बनाएं।

जेड ट्री
jade-tree

जेड पेड़ पौधों की एक महत्वपूर्ण प्रजाति है जो कि दरवाजे के बाहर बगीचे में सजावट के लिए लगाया जा सकता है। यह पेड़ बाहर यिन यांग ऊर्जा एवं घर के अन्दर ची ऊर्जा को बनाए रखता है। इसकी आदर्श लम्बाई या ऊंचाई 3 फुट होनी चाहिए एवं यह ध्यान रखना चाहिए कि इस पेड़ के अन्दर आवश्यकता से अधिक पानी नहीं लगाया जाए।

प्योनी फ्लावर
garden-peoni-flower

प्योनी फूल एक दूसरी प्रजाति है जो कि घर में बतौर सजावट लगायी जा सकती है और इससे ऊर्जा का स्तर ठीक रखा जा सकता है। यह प्यार एवं आकर्षण का प्रतीक व सम्बन्धों में प्रगाडता एवं सन्तुलन बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

बेम्बू फलूट्स
bamboo-flutes

बैम्बू वर्तमान में बहुत प्रचलित है ये शालीनता एवं शान्ति प्रदान करता है। यह ची प्रवाहित करता है एवं ऊर्जा को नियमित करता है।

मूर्तियां
feng-shui-fishesऔर्नामेन्टल मूर्तियां भी बगीचे में लगाई जा सकती हैं। इसमें कछुए एवं मछली की मूर्तियों से न केवल बगीचे की खूबसूरती को बढ़ाया जा सकता है बल्कि यह धन व सकारात्मक ऊर्जा को अपनी ओर आकर्षित करती है। आप विभिन्न और्नामेन्टल मूर्तियां जैसे हिरण, सारस आदि शामिल कर सकते हैं। इनको पश्चिमी जोन में रखकर अच्छे परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं।

ऐसी अन्य मूर्तियों में फू डॉग जो कि घर के रक्षक सुरक्षा प्रदान करने वाले कहे जाते हैं। हाथी, उल्लू और शेर की मूर्तियों को भी रखा जा सकता है। ये सभी निश्चित परिणाम सुनिश्चित करते हैं।

गलत दिशा जीवन में मुसीबत एवं परेशानी को न्यौता दे सकती है।

सही दिशा का निर्धारण
Feng-Shui-Garden

बगीचा या भूमि का हरा भरा क्षेत्र, यदि गलत दिशा में स्थित है तो पूरे जीवन में परेशानियों का कारण बन सकता है। इसके कारण अनावश्यक कानूनी दांवपेंच, आर्थिक तरक्की में अवरोध हो सकता है। गार्डन बनाने के लिए उत्तर दिशा से पूर्व दिशा का भाग अच्छा होता है। कौन से पेड या पौधे उपर्युक्त हैं और किस दिशा में लगाए जाने चाहिए, इसका अवकलोन पहले जरूर कर लें।

naresh_singal325यह लेख मशहूर ज्योतिष, वास्तु और फेंग्शुई विशेषज्ञ नरेश सिंगल से बातचीत के आधार पर लिखा गया है। वास्तु से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या के समाधान के लिए नरेश सिंगल से संपर्क करें…

+91-9810290286
9810290286@vaastunaresh.com, mail@vaastunaresh.com