उत्तराखंड के चमोली जिले मे भगवान बद्रीनाथ और रुद्रप्रयाग जिले के केदारनाथ में ताजा बर्फबारी हुई है। इसके कारण अब राज्य और खासकर पहाड़ी इलाकों में ठंड बढ़ने लगी है। कुमाऊं के कुछ इलाकों में भी बूंदाबांदी की खबर है।

हालांकि अस्थायी राजधानी देहरादून में गुरुवार को सुबह से ही धूप खिली रही। लेकिन कुमाऊं के कई इलाकों में बारिश होने से ठंड बढ़ गई। उधर, बुधवार का दिन बादलों और कुछ जगहों पर हल्की बारिश के चलते ठंडक भरा रहा। सुबह से ही बादल और ठंडी हवाओं के कारण राज्यभर में तापमान गिर गया। देहरादून में एक दिन में तापमान में 4.3 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

गुरुवार को भी ऐसा ही मौसम रहने का अनुमान लगाया गया था। केदारनाथ और बद्रीनाथ की चोटियों पर बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश होने से ठंड का प्रकोप बढ़ने लगा है। बद्रीनाथ, हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, लाल माटी सहित जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हुई।

गोपेश्वर में करीब पंद्रह मिनट तक ओलावृष्टि हुई। केदारनाथ की पहाड़ियों में बर्फबारी होने से धाम में तेज शीत हवाओं का प्रकोप बना हुआ है। गुप्तकाशी, ऊखीमठ आदि स्थानों पर बुधवार को दोपहर बाद हल्की बारिश हुई।

बुधवार को देहरादून सहित राज्यभर में सुबह से ही बादल छा गए। इस बीच हल्की ठंडी हवाएं चलने लगी तो पारा नीचे आ गया। अस्थायी राजधानी देहरादून सहित कुछ जगहों पर हल्की बूंदाबांदी हुई। दून में पारे में मंगलवार के मुकाबले बुधवार को 4.3 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई।

मंगलवार को अधिकतम तापमान 30.4 डिग्री था, जो बुधवार को 26.1 डिग्री पर आ गया। राज्य में भी कई जगहों पर दिन का तापमान गिर गया। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया था कि गुरुवार को कुमाऊं मंडल में आमतौर पर बादल छाए रहेंगे।

कुमाऊं में कुछ जगहों पर हल्की बारिश होने की संभावना भी जताई थी। गढ़वाल मंडल में आंशिक बादल छाए रहेंगे। बताया कि दून में भी आंशिक बादल छाए रहने का अनुमान है, लेकिन गढ़वाल मंडल में कहीं भी बारिश के आसार नहीं हैं। बताया कि शुक्रवार से राज्यभर में मौसम साफ हो जाएगा।

मौसम विभाग के मुताबिक कई दिनों से न्यूनतम तापमान 15 डिग्री से नीचे रिकॉर्ड किया जा रहा है। निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक बुधवार को भी न्यूनतम तापमान 14.9 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। मंगलवार को न्यूनतम पारा 13.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था। इससे सुबह और शाम को ठंड महसूस हो रही है। उन्होंने अपील की है कि वह बदलते मौसम में खुद को बचाकर रखें।