उत्तराखंड सरकार की पहल पर पिथौरागढ़ में पहली बार भारत-नेपाल के बीच बॉर्डर का काम करने वाली शारदा नदी में शुक्रवार से राफ्टिंग शुरू हो गई है। संसदीय सचिव और क्षेत्रीय विधायक हेमेश खर्कवाल ने हरी झंडी दिखा कर इसका उद्घाटन किया।

इस दौरान विधायक खर्कवाल ने प्रशासिक अधिकारियों के साथ राफ्टिंग का लुत्फ भी उठाया। खर्कवाल ने कहा शारदा और काली नदी में राफ्टिंग की अपार संभावनाएं हैं। शारदा नदी में साहसिक खेलों और पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए रिवर राफ्टिंग शुरू हो गई है।

एसडीएम नरेश दुर्गापाल, सीओ आरएस रौतेला व अन्य लोगों ने ठूलीगाड़ से बूम तक राफ्टिंग का लुत्फ लिया। लाइफ इज एडवेंचर नामक संस्था द्वारा शारदा नदी में राफ्टिंग का आयोजन किया जा रहा है।

संस्था के निर्देशक मोनू अरोड़ा ने बताया कि ठूलीगाड़ से बूम तक 8 किलोमीटर तक का सफर राफ्टिंग से किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए पैकेज टूर 800 रुपये व एक दिन का 1800 रुपये शुल्क निर्धारित किया गया है। विधायक खर्कवाल ने कहा कि राफ्टिंग से ऋषिकेश के तर्ज में यहां भी पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।