ट्रांस्फर पाकर देहरादून पहुंची 22 महिला टीचर गायब, विभाग को भी जानकारी नहीं

उत्तराखंड में पहाड़ के दूरदराज के जिलों से तबादला पाकर देहरादून पहुंचीं 22 महिला टीचर अब कहां हैं, विभाग को इसकी जानकारी नहीं हैं। ये सभी टीचर अचानक गायब हो गई हैं। सस्पेंड के आदेश के बाद से इन टीचरों ने स्कूल और अटैच कार्यालय में उपस्थिति भी दर्ज नहीं कराई है।

राज्य में टीचरों के अनुरोध के आधार पर हुए तबादलों के बाद पौड़ी, टिहरी, चमोली आदि जिलों से 22 टीचर दून पहुंची थीं। तबादला नियमावली के अनुसार इन टीचरों को दुर्गम में भेजा जाना था।

विभाग की ओर से इन्हें देहरादून जिले के चकराता और कालसी ब्लॉक के दुर्गम विद्यालयों में भेजा गया। लेकिन टीचर ने कार्यभार ग्रहण नहीं किया। शिक्षा महानिदेशक के निर्देश के बाद इन टीचरों को सस्पेंड कर दिया गया, लेकिन हैरानी की बात यह है कि टीचरों ने अब तक अपने सस्पेंड ऑर्डर तक नहीं लिए हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी बेसिक शिक्षा मेहरबान सिंह बिष्ट का कहना है कि महिला टीचर कहा हैं, विभाग को इसकी जानकारी नहीं हैं। शिक्षा महानिदेशक डी. सेंथिल पांडियन कहते हैं कि विभाग में अनुशासनहीनता को बर्दाश्त नहीं की जाएगी। हम जब अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई कर सकते हैं तो टीचरों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी। मैं प्रकरण की समीक्षा कर जरूरत पड़ी तो इनकी सर्विस ब्रेक करुंगा।