नैनीताल जिले के हल्द्वानी में पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के 90वें जन्मदिन के मौके पर रविवार को आयोजित जन्मदिवस समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी पहुंचे। जहां उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी को शॉल ओढ़ाकर जन्मदिन की शुभकामनाएं दी।

वहीं उन्होंने अपने संबोधन में पूर्व सीएम एनडी तिवारी को बड़े व्यक्तित्व वाला सेकुलर नेता बताया। अखिलेश ने उनके विकास कार्यों को गिनाते हुए जहां उनका आर्शीवाद इसी तरह बने रहने की कामना की। वहीं यूपी और उत्तराखंड के बीच बेहतर संबंध बनाए रखने की बात कहीं।

अखिलेश ने बरेली में 540 करोड की लागत से बने बरेली-बागेश्वर राष्ट्रीय राजमार्ग का नाम भी पूर्व एनडी तिवारी के नाम पर किए जाने की घोषणा की है। उन्होंने यूपी व उत्तराखंड परिवहन निगमों की बसों का संचालन बेरोकटोक जारी रखने और मेडिकल में पीजी की सीटों को, अपने मुख्यमंत्री रहते बहाल रखे जाने की घोषणा की।

river-gomti-road-to-baijnath-from-bageshwar

अखिलेश ने अपने संबोधन में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के बीच परिसम्पत्तियों के बंटबारे को आपसी बातचीत से सुलझाने की बात कही है। इस मौके पर पूर्व सीएम एनडी तिवारी लोगों से मिले सम्मान व प्यार से खासे अभिभूत नजर आए। उन्होंने इस मौके पर दोनों प्रदेशों में विकास पर जोर दिया। खासतौर पर सीएम अखिलेश को लेकर कहा कि जहां वे मुलायम सिंह के कार्य को आगे बढ़ा रहे हैं, वहीं उनके आने से दोनों राज्यों के बीच मैत्री भी बढ़ी है।

इस अवसर पर पूर्व सीएम एनडी तिवारी के जन्मदिन समारोह में शिरकत करने पहुंचे यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने गौहत्या पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश में गौ हत्या पर पहले ही रोक लगा दी गई है। उन्होंने कहा है कि गौकशी करने वालों पर एनएसए की कार्रवाई का भी कानून बना दिया गया है। सीएम अखिलेश ने बगैर बीजेपी का नाम लिए कहा कि गाय हमारी है, उससे उनका क्या लेना-देना है। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा है कि गोबर से अगर वे कुछ बनाना चाहते हैं तो बना लें।