नैनीताल जिले में हल्द्वानी के सर्किट हाउस में शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के आने की खबर मिलते ही लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बता दें की इस भीड़ में राज्य का कोई कद्दावर राजनेता नहीं था। यहां गांव के युवक, महिलाएं और लाठी के बल पर चलने वाले बूढ़े थे।

अपनों से मिलने के बाद विकास पुरुष नाम से मशहूर रहे तिवारी की आंखों से आंसू छलक पड़े। लोगों की जुबां पर एक ही शब्द था कि उत्तराखंड के लोग आज भी इनके मुरीद हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी का जन्मदिन रविवार 18 अक्तूबर को है। विकास पुरुष के जन्मदिन को भव्य रूप से मनाने के लिए ग्राम प्रधान मुकुल बल्यूटिया ने कई राज्यों के राजनेताओं को आमंत्रित किया है। जन्मदिन से पहले हल्द्वानी के लोग पूर्व मुख्यमंत्री के साथ पत्नी उज्जवला शर्मा को शुक्रवार की शाम लेकर सर्किट हाउस में आए।

सर्किट हाउस में आने की खबर मिलने पर काफी लोगों की भीड़ जुट गई। यहां मुलाकात करने वालों का कोई काम नहीं था, लेकिन निस्वार्थ भाव से एक झलक पाने के लिए बूढ़े और जवानों में विशेष आतुरता थी।

पूर्व मुख्यमंत्री नारायण तिवारी के जन्मदिन में शरीक होने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आने की भी खबर है। जिला पुलिस के पास अखिलेश यादव का कार्यक्रम आ गया है।

अभी उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत का तिवारी से मिलने का कोई कार्यक्रम अभी तक नहीं मिल पाया है। कोतवाल आरएस मेहता ने शुक्रवार को ही बताया था कि वीवीआईपी के आगमन को लेकर रिहर्सल और यातायात व्यवस्था की अन्य तैयारियां चल रही हैं।