नैनीताल याट क्लब की तरफ से आयोजित गवर्नर्स गोल्ड कप सेलिंग प्रतियोगिता का फाइनल मुकाबला नैनीताल याट क्लब और तमिलनाडु सेलिंग एसोसिएशन के बीच हुआ। तमिलनाडु एसोसिएशन की टीम ने फाइनल में बाजी मारकर ट्रॉफी अपने नाम कर ली।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि उत्तराखण्ड के राज्यपाल डॉ. के.के पाल ने सभी सेलर्स को मेडल देकर पुरस्कृत किया। विजेता और उप-विजेता दोनों टीमों को ट्रॉफी दी गई। इस मौके पर उन्होंने पाल नौकायन के जरिए पर्यटन को बढ़ावा देने का भी आह्वान किया।

राज्यपाल ने विजेता टीम को ट्रॉफी देते हुए कहा कि यह एक बेहद रोमांचक खेल है। इस खेले के प्रति आम लोगों की रूचि बढ़ाना बेहद जरूरी है, तभी जाकर इस खेल का सामूहिक विकास संभव है।

सेलर्स को संबोधित करते हुए उन्होंने ने कहा कि खिलाड़ी इस खेल को प्रतियोगिता ना समझकर फेस्टिवल समझें। प्रतियोगिता में जीतना ही नहीं बल्कि भाग लेना भी महत्वपूर्ण होता है। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी उत्साहित होकर खेलों में भाग लें और दूसरे खिलाड़ियों के लिए माडल बनें।

sailing-competition-Nainital2

राज्यपाल ने कहा, ऐसे खेलों से जहां एक ओर खिलाड़ी को प्रोत्साहन मिलता है, वहीं पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि सेलिंग रिगाटा को समय-समय पर फेस्टिवल की तरह मनाना चाहिए, ताकि युवा सेलर्स आगे आ सकें। फाइनल मुकाबला बेहद रोमांचक रहा, जिसमें तमिलनाडु की टीम ने शानदार खेल का प्रर्दशन किया, जिसमें तमिलनाडु की टीम ने अंतिम चरण में 17 अंक हासिल कर ट्रॉफी पर कब्जा किया।

उप-विजेता एनटीवाइसी की टीम 19 अंक हासिल कर सकी, हालांकि दोनों टीमों के बीच शुरू से आखिर तक जोरदार टक्कर रही लेकिन बाजी मारने में तमिलनाडु की टीम सफल रही।

बोट हाउस क्लब में पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया। इस प्रतियोगिता में खास बात ये रहती है कि जो टीम कम अंक हासिल करती है उसे विजयी घोषित किया जाता है।