बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता कादर खान इलाज कराने के लिए योगगुरु बाबा रामदेव की शरण में पहुंच गए हैं। वह हरिद्वार-दिल्ली रोड स्थित पतंजलि योगपीठ में इलाज कराने पहुंचे हैं।

पतंजलि योगपीठ के आचार्य बालकृष्ण ने बुधवार को उनका स्वागत किया। गुरुवार को चेकअप करने के बाद कादर खान का विधिवत इलाज शुरू कर दिया गया। कभी विलेन, कभी चरित्र अभिनेता तो कभी हास्य कलाकार के रूप में अपनी अनूठी अभिनय शैली से हिंदी फिल्मों के शौकिनों का मनोरंजन करने वाले कादर खान शाम सात बजे पतंजलि योगपीठ पहुंचे।

वे मुंबई से हवाई जहाज में सवार होकर जौलीग्रांट आए उसके बाद पारिवारिक मित्र संतोष भारती के साथ सड़क मार्ग से हरिद्वार होते हुए पतंजलि पहुंचे। पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने उन्हें रुद्राक्ष की माला पहनाकर उनका और साथ आए लोगों का स्वागत किया।

कार से उतारकर उन्हें व्हीलचेयर पर बिठाया गया। जहां से लिफ्ट से पतंजलि फेस वन के तपस्या ब्लाक स्थित कमरा नंबर सी-303 में ले जाया गया, इस दौरान मीडियाकर्मियों ने कादर खान से बात करने की कोशिश की। उन्होंने कोई बात नहीं की।

kadar-khan1

आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि कुछ समय पहले उनकी मुलाकात कादर खान से मुंबई में हुई जब उनके परिचितों ने उन्हें बताया था कि कादर खान बीमार हैं। उन्हें घुटनों में दर्द, शुगर आदि बीमारियां हैं। प्राथमिक उपचार के लिए उन्होंने उन्हें पतंजलि लाने की सलाह दी थी। उन्होंने बताया कि गुरुवार को कादर खान का पूरी तरह परीक्षण किया जाएगा।

इसके बाद बीमारी की पहचान कर उनका इलाज शुरू किया जाएगा। आचार्य बालकृष्ण से बताया कि कादरखान ने कहा कि वे अभी तक पतंजलि योगपीठ के बारे में सुना ही था, लेकिन अब यहां आकर अभिभूत हैं। आचार्य बालकृष्ण ने कहा कि पतंजलि निरोगी भारत के अपने लक्ष्य के अनुरूप सभी को चिकित्सा सुविधा मुहैया करा रही है।

करीब दस साल बाद कादर खान की नई फिल्म ‘हो गया दिमाग का दही’ रिलीज होने वाली है। पतंजलि योगपीठ पहुंचने से पहले कुछ समय के लिए हरिद्वार में केशव आश्रम के पास उनकी गाड़ी रुकी। वहां लोगों से मिलते हुए कहा कि लोग उनकी फिल्म देखने जरूर आएं। उनके साथ उनका बेटा शाहनवाज खान भी आया है।