मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उत्तराखंड में टिहरी जिले के नरेन्द्रनगर में 40वें कुंजापुरी पर्यटन और विकास मेले का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया। इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक सुबोध उनियाल और पूर्व बीजेपी विधायक ओमगोपाल रावत भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री रावत ने विभिन्न विभागों की तरफ से लगाई गई प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया और खाद्य विभाग द्वारा लगाई गई स्टॉल पर स्थानीय खाद्य पदार्थों का भी जायका लिया।

इस मौके पर स्कूली बच्चों की तरफ से रंगारंग सांस्कृतिक झांकियां निकाली गईं। मुख्यमंत्री ने बोर्ड परीक्षाओं में अच्छे अंक हासिल करने वाले क्षेत्र के 9 छात्र-छात्राओं को पुरस्कार भी बांटे।

आठ दिन तक चलने वाले कुंजापुरी पर्यटन और विकास मेले में विभिन्न रंगारंग और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इनमें स्थानीय लोक संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए लोक कलाकारों की तरफ से भी कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेला मंनोरजंन के साथ ही धार्मिक पर्यटन को भी बढ़ावा देगा। राज्य सरकार स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने की कोशिश में है, इससे पहाड़ों में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और पलायन भी रुकेगा।

मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना है कि 2016 तक नरेन्द्रनगर में कई परिवर्तन देखने को मिलेंगे, पर्यटन और संस्कृति के क्षेत्र में नरेन्द्रनगर विकसित होगा।

नरेन्द्रनगर को जिला बनाने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले समय में कई परिवर्तन देखने को मिलेंगे, जो नरेन्द्रनगर के विकास के लिए कारगर साबित होंगे।

नरेन्द्रनगर के विधायक सुबोध उनियाल ने भी कुंजापुरी मेले के शुभारंभ पर मुख्यमंत्री के पहुंचने पर उनका धन्यवाद दिया और 17 सूत्रीय मांग पत्र मुख्यमंत्री को सौंपा। इनमें से कई मांगों पर मुख्यमंत्री ने सहमति जताते हुए उनकी मौके पर ही घोषणा भी कर दी।