मुख्यमंत्री हरीश रावत (फाइल फोटो)

इन दिनों व्हाट्स ऐप पर एक मैसेज चल रहा है, जिसमें स्विस बैंकों में काला धन जमा कराने वाले 24 कथित खातेदारों के नाम दिए गए हैं। इन 24 नामों में सबसे ज्यादा चौंकाने वाला और लोगों का ध्यान आकर्षित करने वाला नाम उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत का है।

इस संबंध में रावत के एक समर्थक ने देहरादून की एक कोतवाली में मुकदमा भी दर्ज करवाया है। साइबर क्राइम से जुड़े इस हाई-प्रोफाइल मामले की जांच पुलिस से लेकर एसटीएफ को सौंपी जा सकती है।

शहर के बल्लूपुर रोड निवासी डॉ. अख्तर अब्बास ने कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई। डॉ. अब्बास के अनुसार उनके व्हाट्स ऐप नंबर पर मंगलवार को एक मैसेज मिला, जिसमें स्विस बैंक में काला धन जमा करने वाले 24 खातेदारों के नाम दिए गए थे।

दावा किया गया था कि यह जानकारी विकीलीक्स वेबसाइट के माध्यम से दी गई है। मैसेज में स्विस बैंक में जमा करोड़ों की रकम का भी उल्लेख है। इस सूची में नौ नंबर पर मुख्यमंत्री हरीश रावत का नाम दर्ज है। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री हरीश रावत को बदनाम करने के इरादे से कुछ लोगों ने दुष्प्रचार की ये साजिश रची है।

कंप्यूटर के जानकारों का कहना है कि विकिलिक्स के नाम से फर्जी वेबसाइट बनाकर यह साजिश रची गई है। कांग्रेस समर्थक ने साजिश में शामिल लोगों का पता लगाकर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस का कहना है अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने जांच के बाद बताया कि विकिलिक्स की फर्जी वेबसाइट बनाकर दुष्प्रचार का यह खेल खेला गया है।