पौड़ी जिले के कोटद्वार शहर में पिछले दिनों हुए बवाल के बाद शहर का माहौल धीरे-धीरे पटरी पर आ रहा है, लेकिन मजिस्ट्रेट ने शहर से धारा 144 अब भी नहीं हटाई है।

शहर में शान्ति व्यवस्था बनाए रखने के लिए मजिस्ट्रेट ने धरना प्रदर्शन के साथ ही रैलियों पर भी प्रतिबंध लगाया हुआ है। हालांकि शहर का माहौल अब पूरी तरह से शांत है, लेकिन नेताओं की घिनौनी राजनीति के चलते कभी भी फिर से शहर में बवाल हो सकता है, जिसको देखते हुए सिटी मजिस्ट्रेट अतिरिक्त सतर्कता बरत रहे हैं।

दूसरी ओर कोटद्वार में हुए बवाल पर नियंत्रित करने के लिए देहरादून, हरिद्वार व अन्य क्षेत्रों से बुलाया गया पुलिस बल भी अधिकतर वापस भेज दिया गया, लेकिन शहर में लकड़ी पड़ाव, आमपड़ाव के साथ ही झंड़ा चौक और स्टेशन रोड़ पर अब भी अतिरिक्त पुलिस बल तैनात हैं।

शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए सिटी मजिस्ट्रेट लगातार पुलिस प्रशासन से हर दिन की रिपोर्ट ले रहे हैं, ताकि शहर में अमन चैन बना रहे। इतना ही नहीं बीजेपी और कांग्रेस के उन हुड़दंगी नेताओं पर भी नजर रखी जा रही है जो शहर का माहौल खराब कर सकते हैं।