उत्तराखंड सरकार ने 17 वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का किया ट्रांस्फर

देहरादून।… उत्तराखंड सरकार ने गुरुवार को पुलिस विभाग में बडे पैमाने पर फेरबदल करते हुए 17 पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारियों का तबादला कर दिया। प्रमुख सचिव गृह मनीषा पंवार ने देहरादून में बताया कि सदानंद शंकरराव दाते देहरादून के नए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बनाए गये हैं जो अब तक यह जिम्मेदारी संभाल रहे पुष्पक ज्योति की जगह लेंगे। ज्योति को उपमहानिरीक्षक, पुलिस मुख्यालय का दायित्व दिया गया है।

हल्द्वानी में अपराध अनुसंधान विभाग के पुलिस अधीक्षक पद पर तैनात केवल खुराना को उधमसिंहनगर का वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बनाया गया है, जो नीलेश आनन्द भरणे की जगह लेंगे। भरणे को पुलिस अधीक्षक, सुरक्षा, पुलिस मुख्यालय की नई जिम्मेदारी दी गई है।

अब तक टिहरी के पुलिस अधीक्षक का पद संभाल रहे मुख्तार मोहसिन को पुलिस अधीक्षक, पुलिस मुख्यालय के रूप में देहरादून स्थानांतरित कर दिया गया है। मोहसिन की जगह पर बरिन्दरजीत सिंह को टिहरी भेजा गया है, जो अब तक यही जिम्मेदारी रुद्रप्रयाग में संभाल रहे थे।

पुलिस अधीक्षक, पुलिस मुख्यालय, कृष्ण कुमार वी. के. और सेना नायक एसडीआरएफ पी. रेणुका देवी की जिम्मेदारी में अदला-बदली कर दी गई है। इसी प्रकार, हरिद्वार की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वीटी अग्रवाल और नैनीताल के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अबूदई कृष्ण राज एस की जिम्मेदारियां भी आपस में बदल गई हैं।

अब तक पुलिस अधीक्षक, सतर्कता अधिष्ठान, देहरादून सेक्टर का कार्यभार संभाल रहे वी.के.एस. कार्की को पुलिस अधीक्षक, अभिसूचना, देहरादून की जिम्मेदारी दी गयी है।

पौडी के पुलिस अधीक्षक अजय जोशी अब यहां पुलिस मुख्यालय के पुलिस अधाीक्षक पद की जिम्मेदारी संभालेंगे। जोशी की जगह राजीव स्वरूप को पौड़ी भेजा गया है, जो अब तक पुलिस अधीक्षक, सुरक्षा, पुलिस मुख्यालय की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

पुलिस अधीक्षक, उत्तरकाशी जगतराम जोशी को अगले साल होने वाले हरिद्वार अर्द्धकुम्भ मेला का पुलिस अधीक्षक बनाया गया है। जोशी के स्थान पर पुलिस मुख्यालय देहरादून में शिकायत, मानवाधिकार के पुलिस अधीक्षक पद की जिम्मेदारी संभाल रही निवेदिता कुकरेती कुमार को भेजा गया है।

सहायक पुलिस अधीक्षक, सदर देहरादून, प्रहलाद नारायण मीणा को रुद्रप्रयाग का नया पुलिस अधीक्षक बनाया गया है जबकि सहायक पुलिस महानिरीक्षक, पी.ए.सी. पुलिस मुख्यालय जन्मेजय प्रभाकर कैलाश को परिसहाय, राज्यपाल के पद पर स्थानान्तरित किया गया है।