नई दिल्ली।… बीजेपी सांसद विजय गोयल ने राष्ट्रपिता के जन्मदिवस से एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तुलना महात्मा गांधी से करते हुए गुरुवार को दोनों को ‘साबरमती के संत’ बताया। अब तो आप भी कहेंगे ये तो हद है…

गोयल ने अशोक रोड स्थित बीजेपी मुख्यालय के सामने मौजूद अपने निवास पर महात्मा गांधी के साथ मोदी के फोटो वाले होर्डिंग लगाई हैं।

इनमें लिखा गया है, ‘दे दी दुनिया में पहचान नई, ऊंचा किया भाल, साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल।’ यह पंक्तियां 1954 में आई फिल्म ‘जागृति’ के इस गीत से मेल खाती हैं.. ‘दे दी हमें आजादी बिना खडग बिना ढाल, साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल।’ बैनर में गीत की मूल पंक्तियों का इस्तेमाल भी किया गया है।

मोदी की तुलना महात्मा गांधी से करने वाले इन होर्डिंग पर कांग्रेस, जेडीयू और AAP की ओर से बीजेपी को कड़ी प्रतिक्रियाओं सामना करना पड़ रहा है।

कांग्रेस प्रवक्ता शकील अहमद ने ट्वीट किया, ‘बीजेपी के विजय गोयल ने प्रधानमंत्री को महात्मा गांधी से मिलाया है। यह चापलूसी की इंतेहा है। आत्म मुग्ध मोदी जैसे व्यक्ति भी शायद इस पर शर्मिंन्दिगी महसूस करें।’ गोयल से इस बारे में संपर्क किए जाने पर कहा कि वह उन व्यक्तित्वों के बीच तुलना नहीं कर रहे हैं जो अपने-अपने तरीके से संत हैं।

उन्होंने कहा, ‘गांधी ने देश को आजाद कराया, मोदी हमें भ्रष्टाचार, गरीबी से मुक्त करा रहे हैं। मोदी देश के लिए अपने व्यक्तिगत जीवन को बलिदान करके एक संत की तरह काम रहे हैं। विदेश और उनका मीडिया भी इस बात को स्वीकार कर रहा है।’ उधर जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने गोयल को निशाने पर लेते हुए कहा कि बीजेपी के यह सांसद मोदी सरकार में मंत्री पद पाने के लिए यह सब कर रहे हैं।

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता अशुतोष ने गोयल की इस होर्डिंग को ‘हैरान कर देने वाला’ बताया।