सांकेतिक तस्वीर

उत्तराखंड में पौड़ी जिले के कोटद्वार में मंगलवार दिन में तोड़फोड़ कर शहर का माहौल बिगाड़ने वालों पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। कोतवाली पुलिस ने मंगलवार को शहर में तोड़फोड़ करने के आरोप में डेढ़ से दौ सौ अज्ञात लोगों पर बलवा, तोड़फोड़, सरकारी कर्मचारियों को डराने सहित विभिन्न आरोपों में मुकदमे दर्ज किए हैं। मामले में पदमपुर सुखरौ निवासी एक युवक को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

उपजिला मजिस्ट्रेट जीआर बिनवाल ने शहर और आसपास के क्षेत्र में सांप्रदायिक माहौल खराब करने के प्रयास में सोशल मीडिया पर 48 घंटे के लिए रोक लगाने के ल‌िए मोबाइल की कंपनियों की टूजी और थ्रीजी सेवाओं को इस समय के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है।

kotdwar-bawal
पुलिस ने सोशल मीडिया पर गर्दन कटा एक फर्जी फोटो लोड करने वाले अज्ञात व्यक्ति पर भी आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार मंगलवार को शहर में अराजकता फैलाकर तोड़फोड़ करने वाले डेढ़ से दो सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी गई है। मामले में मंगलवार को एक युवक मोहित कुकरेती को हिरासत में लिया गया था। बुधवार को कोर्ट में पेशी के बाद उसे पौड़ी जेल भेज दिया गया है।

kotdwar-bawal1

उपजिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि कोटद्वार क्षेत्र की सभी मोबाइल कंपनियों की टूजी और थ्रीजी सेवाओं को फिलहाल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है।

पुलिस ने फेसबुक और व्हाट्सअप सहित सोशल मीडिया पर एक गर्दन कटे व्यक्ति की लहूलुहान फोटो लोड करने के मामले में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।