उत्तराखंड ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने गुरुवार यानी एक अक्टूबर को देशव्यापी अनिश्चितकालीन चक्का जाम का ऐलान किया है। एसोसिएशन ने विभिन्न मांगों को लेकर केंद्र सरकार पर उपेक्षा का आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा कि देश टोल बैरियर मुक्त हो, ताकि संपूर्ण भारत में वाहनों का आवागमन चल सके। साथ ही उन्होंने कहा कि ड्राइवर की तरफ से दुर्घटना की सजा कम की जाए।

एसोसिएशन के अध्यक्ष का कहना है कि इस जाम का उद्देश्य आम जनता का परेशान करना नहीं पर केंद्र सरकार और केंद्रीय परिवहन मंत्री टोल टैक्स खत्म होने के बयान से नाराज हैं। उन्होंने कहा कि यदि टोल टैक्स जल्द समाप्त नहीं किया गया तो वो आर-पार की लड़ाई लड़ने को मजबूर होंगे।

एसोसिएशन के अध्यक्ष का कहना है कि प्राइवेट टोल ठेकेदार जनता को लूट रहे हैं और कई टोल बैरियरों पर लागत से ज्यादा टैक्स वसूला जाता है। साथ ही उन्होंने कहा कि एनआईएएच की वेबसाइट से मिले आंकड़ों के आधार पर 60 से ज्यादा ऐसे टोल प्लाजा हैं, जो ज्यादा टोल वसूल रहे हैं।